DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब नेताओं ने पकड़ी योग की राह

भी जो नेता अपने व अपने परिवार के ईलाज के लिये लंदन व अमेरिका की राह पकड़ते थे, अब वह रास्ता हरिद्वार की ओर मुड़ने लगा है। नेता यहां आकर योग के माध्यम से तरह-तरह की बीमारियों से निजात पा रहे हैं। कई नेता योग प्रशिक्षकों से अपने ही घर में प्रशिक्षण लेकर नियमित योग में जुटे हैं। कुछ समय पहले हृदय रोग से पीड़ित केन्द्रीय इस्पात एवं रसायन मंत्री रामविलास पासवान ने हाईटेक स्वास्थ्य सेवाओं के बजाये अपनी प्राचीन विधा योग का सहारा लिया और अब जानेमाने चिकित्सकों की अत्याधुनिक मशीनों ने उन्हें एकदम स्वस्थ करार दे दिया।ड्ढr ड्ढr गुरुकुल कांगड़ी हरिद्वार से वेदों में पीएचडी तथा योग में स्नातकोत्तर डा. दयाशंकर विद्यालंकार ने उन्हें इस रोग से बचने के लिये बड़े अस्पतालों के बजाये अपने आवास पर ही नियमित योग करने की राय दी तथा करीब एक माह तक अपनी देखरख में नियमित योग करवाया। बाद में टेस्ट करने पर वे बिलकुल भले चंगे निकले। इससे प्रभावित होकर उन्होंने दयाशंकर को हरिद्वार में ‘अतीन्द्रेय योग साधना एवं शोध संस्थान’ खोलने के लिये मदद दी। भारतीय संस्कति तथा हिन्दू धर्म पर धारा प्रवाह भाषण देने वाले 27 वर्षीय दया शंकर भाजपा में ‘मिनी अटल’ के नाम से प्रसिद्ध हैं।ड्ढr ड्ढr वे पासवान के अलावा भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह, सुषमा स्वराज, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री भुवनचन्द्र खंडूड़ी तथा पूर्व मुख्यमंत्री भगत सिंह कोश्यारी सहित कई राजनेताओं को सपरिवार योग शिक्षा दे चुके हैं। कुछ समय पूर्व, बिहार की राजनीति में चाणक्य कहे जाने वाले जद (यू) सांसद व पार्टी प्रवक्ता शिवानन्द तिवारी की बीमार पत्नी के लिये जब दिल्ली के डाक्टरों ने हाथ खड़े कर दिये तब उन्होंने आखिरी कदम के रूप में स्वामी रामदेव के हरिद्वार स्थित आश्रम की ओर रुख किया जहां कुछ दिनों के योग तथा आयुव्रेदिक दवाओं ने चमत्कारिक प्रभाव दिखाया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अब नेताओं ने पकड़ी योग की राह