DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पंचगव्य से बनी लक्ष्मी गणेश की मूर्ति दीपावली का आकर्षण

पहली बार पंचगव्य गोमय, गोबर गोमूत्र, गोदुग्ध, गोदधि और गोघृत से बनी लक्ष्मी गणेश की प्रतिमाएं इस वर्ष दीपावली पर्व पर पूजा का मुख्य आकर्षण होंगी।

गोवंश की सेवा के लिए समर्पित संस्था (गो संवर्धन सेवा समिति) ने पंचगव्य से लक्ष्मी गणेश की भव्य मूर्तियां बनाई हैं। यह प्रयोग भारत में पहली बार किया जा रहा है।

काशीप्रान्त के गो संरक्षण सवंर्धन प्रमुख संतलाल ने बताया कि पंचगव्य से निर्मित यह मूर्तियां पर्यावरण के अनुकूल तो हैं ही इसके अलावा इनका घर में रखना परिवार के लिए कल्याणकारी और समृद्धिदायक भी है।

उन्होंने बताया कि पंचगव्य से निर्मित इन मूर्तियों को खरीदने से गाय के गोबर और मूत्र का उचित मूल्य मिलने के कारण दूध देने वाली गायों के पालन और संरक्षण की ओर लोग ध्यान देंगे जिससे धार्मिक सामाजिक और आर्थिक दृष्टि से समाज का स्तर ऊंचा हो सकेगा।

गोमूत्र से टी.बी., कैंसर, गठिया और पेट की जटिल व असाध्य रोगों का इलाज किया जा रहा है और तमाम  दवाएं भी बन रही हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पंचगव्य से बनी लक्ष्मी गणेश की मूर्ति दीपावली का आकर्षण