DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अलकायदा से ज्यादा धनवान है तालिबान: अमेरिका

अलकायदा से ज्यादा धनवान है तालिबान: अमेरिका

अमेरिका के वित्त मंत्रालय ने खुलासा किया है कि कुख्यात आतंकवादी संगठन तालिबान अपने सहयोगी गुट अलकायदा से ज्यादा धनवान है और अफगानिस्तान में अमेरिका तथा सहयोगी देशों की सेनाओं पर व्यापक आपराधिक हमले करने में विश्वास रखता है।
 
अमेरिकी वित्त मंत्रालय में सहायक सचिव डेविड कोहेन ने सोमवार को 'कालेधन पर रोकथाम' विषय पर आयोजित एक सम्मेलन में कहा है कि आतंकवादी गुट अफगानिस्तान में अफीम उत्पादकों और हेरोइन की तस्करी करने वाले तस्करों से धन वसूलते हैं। इसके अलावा तालिबान आतंकवादी अफगान व्यवसायियों से भी सुरक्षा मुहैया कराने के नाम पर पैसा लेते हैं। कोहेन वित्त मंत्रलय में आतंकवादियों के आर्थिक स्रोतों से जुड़े मामलों को देखते हैं।
 
कोहेन ने कहा कि अलकायदा धन की व्यापक कमी का सामना कर रहा है और उसका प्रभाव लगातार घटता जा रहा है। उन्होंने कहा कि अमेरिका द्वारा अलकायदा के धन स्रोतों पर लगाई गई रोक की बदौलत आज उसकी वित्तीय स्थिति बेहद खराब हो गई है। हमारा अनुमान है कि अलकायदा पिछले कई सालों में वित्तीय रूप से अपने सबसे खराब दौर से गुजर रहा है। इसके परिणाम स्वरूप इसका प्रभाव खत्म होता जा रहा है।
 
हालांकि कोहेन ने चेतावनी दी कि अभी भी अलकायदा के कई ऐसे दानदाता हैं जो उसे धन मुहैया कराने के लिए तैयार हैं या इच्छुक हैं। वर्तमान स्थिति बदल भी सकती है। उन्होंने बताया कि अलकायदा नेताओं ने 2009 में चार रैलियों में धन दान देने की अपील की, जिससे आतंकवादियों की भर्ती और उनके प्रशिक्षण में तेजी लाई जा सके।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अलकायदा से ज्यादा धनवान है तालिबान: अमेरिका