DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मरीज की मौत पर सर्जन कार्यमुक्त

मुख्यमंत्री मायावती के विशेष कार्याधिकारी अमरनाथ भास्कर के बहनोई की जिला अस्पताल में मौत के मामले में सजर्न डा. सुनील बसंल को कार्यमुक्त कर दिया है। संविदा चिकित्सक डा. बंसल ने 3 अक्तूबर को ही ज्वाइन किया था। उन्होंने शनिवार को मवई निवासी सुकुरवा के पेट की सजर्री की थी। रविवार को मरीज ने दम तोड़ दिया था।
सुकुरुवा को पेट दर्द के कारण शनिवार शाम जिला अस्पताल में भर्ती कराया था।

डा. बसंल ने सजर्री की तजवीज की थी और सीएमएस डा. गोपाल सिंह धानिक को बताया था कि मरीज की आँतें फट गई हैं। आरोप है कि इसके बाद तुरंत काम में नहीं जुटा गया। इस बीच परिवार वालों ने सुकुरवा के मुख्यमंत्री के विशेष कार्याधिकारी अमरनाथ भास्कर फोन कर दिया। सुकुरवा और भास्कर में साले-बहनोई का रिश्ता है।

श्री भास्कर के सक्रिय होने के बाद सीएमएस ने सजर्न को फटकारा। तब रात दो बजे आपरेशन हुआ। रविवार को मरीज की हालत बिगड़ी तो डा. बंसल को आपातकालीन चिकित्साधिकारी डा. बलवीर ने बुलाया,  मगर वे नहीं आए। इस बीच सुकुरवा की मौत भी हो गई।

मामले में मुख्य चिकित्साधिकारी डा. गोपाल सिंह धानिक ने आपरेशन में हीलाहवाली की बात स्वीकारी है। उन्होंने डा. बंसल को कार्यमुक्त कर दिया है। डा. बंसल का कहना है कि उनके ऊपर लगाए गए आरोप बेबुनियाद है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मरीज की मौत पर सर्जन कार्यमुक्त