DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टीला धसकने से चचेरे भाई-बहन जिंदा दफन

सरायइनायत के सुदनीपुर कलाँ गाँव में सोमवार को मिट्टी का टीला धसकने से चचेरे भाई-बहन जिंदा दफन हो गए। हादसे में एक किशोरी जख्मी भी हो गई है। तीनों घर की पुताई के लिए टीले से मिट्टी लेने गए थे। घटना के बाद वहाँ कोहराम मच गया।

मौके पर जुटे ग्रामीणों ने किसी तरह तीनों को बाहर निकाला लेकिन तब तक भाई-बहन की मौत हो चुकी थी। घायल किशोरी को एसआरएन अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस जब शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजने लगी तो गाँववालों ने विरोध किया। बाद में पुलिस ने दोनों शवों को घरवालों को सौंप दिया।

झूँसी/हनुमानगंज प्रतिनिधि के मुताबिक, सुदनीपुर गाँव निवासी धर्मवीर की बेटी ऋचा (15) सोमवार को घर की पुताई के लिए टीले से मिट्टी लेने गई थी। साथ में चचेरा भाई अखण्ड प्रताप (12) पुत्र कर्मवीर और कलावती उर्फ बिंदू (12) पुत्री राममिलन भी थे।

तीनों टीले से मिट्टी खोद रहे थे तभी अचानक से टीला धसक गया और उसमें तीनों दब गए। चीख-पुकार सुनकर आसपास के लोग जुट गए। काफी मशक्कत के बाद किसी तरह तीनों को बाहर निकाला गया लेकिन तब तक ऋचा और अखण्ड की मौत हो चुकी थी।

भाई-बहन की मौत से घर में रोना-पीटना मच गया। सूचना पर पुलिस और उपजिलाधिकारी भी मौके पर पहुँचे। कलावती को एसआरएन अस्पताल ले जाया गया। शवों का पंचायतनामा करने के बाद पुलिस जब पोस्टमार्टम के लिए ले जाने लगी तो गाँववाले आक्रोशित हो गए। उनकी माँग थी कि बिना पोस्टमार्टम के शवों को घरवालों को सौंपा जाए। इसपर पुलिस ने शवों को बिना पोस्टमार्टम के घरवालों को सौंप दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:टीला धसकने से चचेरे भाई-बहन जिंदा दफन