DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीन दशक बाद भी नहीं बनी सड़क

पोखड़ा ब्लाक की किमगडीगाड़ पट्टी के चार गांवों के लिए करीब तीन दशक पूर्व स्वीकृत मोटर मार्ग आज तक नहीं बन सका है। ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेज मोटर मार्ग निर्माण शीघ्र शुरू करने की मांग की है।
अविभाजित उत्तर प्रदेश में बतौर विधायक डा. रमेश पोखरियाल निशंक के कार्यकाल में पोखड़ा में भरतपुर-संदरई-नौला-डबरा पांच किलोमीटर मोटर मार्ग को स्वीकृति मिली थी।

जिस पर लोनिवि पौड़ी के प्रांतीय खंड ने काम तो शुरू किया लेकिन बाद के वर्षो में यह सड़क ठंडे बस्ते में डाल दी गई। नतीजतन पट्टी किमगडीगाड के नौला, डबरा, सुंदरई व भरतपुर के ग्रामीण पैदल आने-जाने को मजबूर हैं।

सड़क निर्माण की मांग को लेकर गत फरवरी माह में स्वास्थ्य मंत्री रहे डा. निशंक को तब ग्रामीणों ने ज्ञापन भी सौंपा था, लेकिन मामले में कोई प्रगति नहीं हुई। ग्राम प्रधान सुमन देवी रतूड़ी, प्रवेश सुंद्रियाल, सुनील रतूड़ी, मरेश चंद्र, मधुसूधन, ओमप्रकाश, धीरेंद्र, सर्वेश्वर प्रसाद, दिनेश चंद्र आदि ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री डा. निशंक को ज्ञापन भेजा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तीन दशक बाद भी नहीं बनी सड़क