अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीसरे मोर्चे को खारिज किया शरद ने

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव ने देश में तीसर मोर्चे की संभावना को पूरी तरह खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा कि तीसर मोर्चे का गठन ‘मेढ़कों को तौलने के बराबर’ है। अलबत्ता उन्होंने वामदलों की ताकत को स्वीकार किया और कहा कि एनडीए और यूपीए के अलावा सिर्फ वामदलों में ही कुछ दिखता है। उन्होंने दावा किया कि केन्द्र में अगली सरकार एनडीए की ही होगी। पटना में पत्रकारों से बातचीत के दौरान श्री यादव ने कहा कि झारखण्ड और यूपी के उम्मीदवारों की घोषणा मंगलवार को कर दी जायेगी। पार्टी ही तय करगी कि किसे कहां से चुनाव लड़ना है।ड्ढr ड्ढr उन्होंने यह भी कहा कि उम्मीदवारों को लेकर कहीं कोई विवाद नहीं है। सीताराम येचुरी के उनके मिलने के बाद तीसर मोर्चे में शामिल होने के कयास को उन्होंने यह कहकर खत्म कर दिया कि देश में तीसरा मोर्चा का कोई कान्सेप्ट चलने वाला नहीं। उन्होंने कहा कि श्री येचुरी से उनकी मुलाकात को दूसर रूप में नहीं देखा जाना चाहिए, क्योंकि वे दो-तीन दिनों से बीमार थे और कई लोग उनसे मिलने आए थे। कांग्रस के भी कई नेता थे, लेकिन सबने सिर्फ येचुरी को ही देखा।ड्ढr प्रधानमंत्री के कई दावेदारों के सवाल पर उन्होंने कहा कि एनडीए और यूपीए के पास ही इस पद के दावेदार हैं।ड्ढr ड्ढr यह सम्मानित पद है और कई लोगों ने इस पद का मजाक बना दिया है। अब तो जसपाल भट्टी भी खुद को प्रधानमंत्री पद का दावेदार बता रहे हैं। उन्होंने कहा कि लालकृष्ण आडवाणी के पीएम बनने पर अल्पसंख्यकों में कोई भ्रांति नहीं है। हम इतने दिनों से मिलकर लड़ रहे हैं, सरकार बनाई है और यह सब बगैर अकलियतों के समर्थन से थोड़े हुआ है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: तीसरे मोर्चे को खारिज किया शरद ने