DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वनडे क्रिकेट को रोचक बनाना होगा: जयवर्धने

वनडे क्रिकेट को रोचक बनाना होगा: जयवर्धने

इंडियन प्रीमियर लीग और चैंपियंस लीग जैसे टूर्नामेंटों के साथ टवेंटी 20 की लगातार बढ़ती लोकप्रियता के बीच श्रीलंका के पूर्व कप्तान महेला जयवर्धने ने सोमवार को कहा कि अगर वनडे क्रिकेट को अपना वजूद बचाना है तो इसमें बदलाव करके इसे रोचक बनाना होगा।

जयवर्धने ने संवाददाताओं से कहा कि 50 ओवर का क्रिकेट अलग तरह की चुनौती है लेकिन अगर इसे अपनी लोकप्रियता बरकरार रखनी है तो इसमें रोचक बदलाव करने होंगे। उन्होंने कहा कि वनडे क्रिकेट पहले 60 ओवर, फिर 55 और अब 50 ओवर का खेला जाता है। इसी तरह इसके प्रारूप में आमूलचूल बदलाव करने की जरूरत है जैसे कि कुछ समय पहले पावरप्ले शामिल किया गया। इसी तरह कुछ और बदलाव करते हुए इसे रोमांचक बनाना होगा और यह अपना वजूद कायम रखने में सफल रहेगा।

मौजूदा चैंपियंस लीग टवंटी 20 टूर्नामेंट में वायम्बा की ओर से खेल रहे जयवर्धने ने फिरोजशाह कोटला की पिच की धीमी और वहां पर गेंद नीची रहने के कारण हो रही आलोचना को भी अधिक तूल नहीं दिया। उन्होंने कहा कि एक क्रिकेटर के रूप में मैं कभी विकेट की आलोचना नहीं करता। यह आपके लिए अलग तरह की चुनौती होती है। यहां की पिच थोड़ी धीमी है और गेंद नीची रह रही है, लेकिन यहां पिच हाल में ही तैयार की गई है इसलिए इसे अपने मूल रूप में आने में कुछ समय लगेगा।

चैंपियंस लीग के कुछ मैचों में दर्शकों की कम संख्या से भी जयवर्धने परेशान नहीं हैं और उन्होंने कहा कि भारत की मेजबानी में हो रहे टूर्नामेंट में दर्शकों का उनके खिलाड़ियों को देखने आने में कुछ भी गलत नहीं है। उन्होंने कहा कि भारतीय टीमों के मैचों में काफी दर्शक आ रहे हैं। लोग अपनी टीमों का समर्थन कर रहे हैं। रायल चैलेंजर्स बेंगलूर, दिल्ली डेयरडेविल्स और डेक्कन चार्जर्स के मैच के लिए काफी दर्शक मैदान पर पहुंच रहे हैं।

जयवर्धने ने कहा कि वायम्बा टीम के उनके साथी खिलाड़ियों के लिए भारत में खेलने का अनुभव काफी उपयोगी साबित होगा और उन्हें काफी कुछ सीखने को मिलेगा। इंडियन प्रीमियर लीग में किंग्स इलेवन पंजाब की ओर से खेलने वाले जयवर्धने ने कहा कि हमारे अधिकतर खिलाड़ी यहां पहली बार खेल कर रहे थे। हमारे टीम में काफी अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी हैं लेकिन इन्होंने बहुत ज्यादा मैच नहीं खेले हैं। यहां का स्तर अलग है और उन्हें काफी कुछ सीखने को मिलेगा जो आगे चल उनके लिए काफी उपयोगी साबित होगा।

वायम्बा के कप्तान और अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी जेहान मुबारक भी जयवर्धने से सहमत दिखे। उन्होंने कहा कि भारत में खेलना ही अलग अनुभव होता है। इंडियन प्रीमियर लीग ने क्रिकेट को और अधिक रोचक बना दिया है। मैं पहले भी भारत में खेल चुका हूं और जानता हूं कि चीजों से कैसे निपटना है।

ट्वंटी 20 की बढ़ती लोकप्रियता के बावजूद मुबारक टेस्ट क्रिकेट को ही असल परीक्षा मानते हैं लेकिन उनका भी कहना है कि टी 20 ने क्रिकेट के वैश्वीकरण में मदद की। उन्होंने कहा कि मैं टेस्ट क्रिकेट का प्रशंसक हूं लेकिन टी 20 ने क्रिकेट को अधिक लोकप्रिय बनाने में मदद की है और इससे टीमें वित्तीय तौर पर अधिक मजबूत हुई हैं, लेकिन हम पेशेवर क्रिकेटर हैं और हमारे वित्तीय पक्ष को दिमाग में रखकर नहीं खेलते। फिर हम चाहे श्रीलंका के लिए खेलें या वयाम्बा के लिए या आईपीएल और क्लब क्रिकेट में।

जयवर्धने ने भी कहा कि टी 20 से खिलाड़ियों को वित्तीय सुरक्षा मिली है। उन्होंने कहा कि निश्चित तौर परटी 20 से वित्तीय फायदा हुआ है और खिलाड़ी वित्तीय तौर पर सुरक्षित महसूस कर रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वनडे क्रिकेट को रोचक बनाना होगा: जयवर्धने