DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लालगढ़ में कमजोर पड़ रहे हैं माओवादी: खुफिया रिपोर्ट

लालगढ़ में कमजोर पड़ रहे हैं माओवादी: खुफिया रिपोर्ट

आदिवासी नेताओं छत्रधर महतो और सुखशांति बस्के की गिरफ्तारी तथा संयुक्त बलों के लगातार अभियान के चलते लालगढ़ और आसपास के इलाकों में माओवादियों की पकड़ कमजोर पड़ती जा रही है।

खुफिया रिपोर्टों में कहा गया है कि जिन लोगों की समस्याएं उठा कर माओवादियों ने उनका विश्वास हासिल किया, उन लोगों ने अब चरमपंथियों को खाद्य सामग्री और दवाइयों की आपूर्ति बंद कर दी है।
   
रिपोर्ट के मुताबिक पीपुल्स कमेटी अगेन्स्ट पुलिस एट्रोसिटीज (पीसीपीए) के समर्थकों और सदस्यों के बीच दरार महतो और बस्के की गिरफ्तारी तथा संयुक्त बलों के अभियान के बाद उभरी है। पुलिस के सघन अभियानों के कारण पीसीपीए के नेताओं के लिए आंदोलन जारी रखना मुश्किल हो रहा है। माओवादियों के पास अत्याधुनिक हथियार बहुत ही कम हैं। वे वर्तमान में जिन हथियारों का इस्तेमाल कर रहे हैं, वह पुराने हो चुके हैं।

खुफिया सूत्रों का कहना है कि पुलिस महानिदेशक भूपिन्दर सिंह ने शनिवार को शीर्ष पुलिस अधिकारियों के साथ भावी रणनीति तय करने के लिए एक बैठक की।

बहरहाल, भूमिगत माओवादी नेता किशनजी ने इन खबरों को बेबुनियाद बताते हुए खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा है यह सच है कि अभी हमारा कार्यक्रम विस्तृत नहीं है लेकिन इसका कारण त्योहारों का मौसम है। अज्ञात स्थान से बात कर रहे किशनजी ने कहा कि वे संयुक्त बलों का मुकाबला करने की बजाय स्थानीय निवासियों की समस्याएं हल करने पर अधिक ध्यान दे रहे हैं।
   
दूसरी ओर पुलिस और प्रशासन तीव्र जनसंपर्क कर लोगों को समझा रहे हैं और चरमपंथियों की घटती लोकप्रियता का लाभ उठाने की कोशिश कर रहे हैं। पश्चिमी मिदनापुर के पुलिस अधीक्षक मनोज वर्मा ने फोन पर बताया कि हाल ही में उन्होंने रामगढ़ में एक फुटबॉल मैच आयोजित किया, जिसमें 26 गांवों की 32 टीमों ने भाग लिया। मैच के समापन पर पिकनिक आयोजित की गई, जिसमें प्रतिभागियों के साथ-साथ स्थानीय निवासियों ने भी भाग लिया। इसमें करीब 3000 व्यक्तियों ने भोजन किया।

उन्होंने बताया कि ऐसा ही मैच समीपवर्ती कांटापहाड़ी में भी आयोजित किया गया था और वह भी सफल रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लालगढ़ में कमजोर पड़ रहे हैं माओवादी: खुफिया रिपोर्ट