DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेहंदी बनाम टैटू

मेहंदी बनाम टैटू

विवाह-शादी से लेकर व्रत-त्योहारों तक मेहंदी के रंग महिलाओं की हथेलियों की शोभा बढ़ाते रहते हैं। अब तो हथेली के अलावा बांह, गर्दन और पीठ पर भी मेहंदी लगाई जाने लगी है, जिनसे बिल्कुल किसी गहने जैसा अहसास होता है। मेहंदी लगाना अब सिर्फ त्योहारों की रस्म नहीं रही, बल्कि यह फैशन का रूप ले चुकी है। तभी तो फेस्टिव सीजन में मेहंदी लगाने वाली दुकानों के सामने महिलाओं/लड़कियों की लंबी कतारें पहले के मुकाबले कुछ ज्यादा ही नजर आने लगी है। ‘मेहंदी को अब फैशन स्टेटमेंट की तरह लिया जने लगा है।’ कहते हैं  मेहंदी आर्टिस्ट सुरेश सोनी, जिन्होंने करवा-चौथ से एक दिन पहले ग्राहकों से मेहंदी लगाने के 400 रुपये तक लिए थे।

मेहंदी के साथ-साथ टैटू की लोकप्रियता भी बढ़ी है। यह लड़कियों के साथ-साथ युवाओं में भी समान रूप से लोकप्रिय है। ‘टैटू की लोकप्रियता पिछले कुछ समय में काफी बढ़ी है।’ कहती हैं आल्प्स ब्यूटी सैलून की भारती तनेजा। टैटू की खासियत यह है कि इसमें रंगों के कई विकल्प मौजूद हैं। इसके अलावा आप चाहें तो स्थायी रूप से भी टैटू गुदवा सकते हैं। इसके लिए आपको 400 या 500 रुपये खर्च करने पड़ सकते हैं। टैटू का ट्रेंड तो है ही, यह भावनाओं को व्यक्त करने का भी बेहतरीन माध्यम है। ‘मैं अपनी मम्मी को बहुत चाहती हूं, इसलिए मैंने अपने हाथ पर स्थायी रूप से मॉम गुदवा रखा है।’ कहते हैं अरुण कटारिया। क्या खूब!    

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मेहंदी बनाम टैटू