DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ट्विटर पर चटर-पटर

ट्विटर पर चटर-पटर

शशि फीडबैक टू एनडीटीवी डॉट कॉम- महात्मा गांधी मानते थे कि कलम तलवार से ज्यादा ताकतवर होती है.. और मुझे यकीन है कि कलम से उनका मतलब मो ब्लां की कलम से नहीं था।-विक्रम चंद्रा, सीईओ, एनडीटीवी नेटवक्र्स, बिग फाइट और दूसरे कार्यक्रमों के एंकर, ट्विटर डॉट कॉम के अपने पेज परलक्जरी ब्रांड मो ब्लां द्वारा महात्मा गांधी के नाम पर पेन जारी करने के विवाद पर विक्रम चंद्रा की यह टिप्पणी रोचक है। विक्रम चंद्रा ट्विटर पर जना-माना नाम हैं। वह गर्व से बताते हैं कि वह ट्विटररैंक डॉट कॉम की सूची में सबसे टॉप पर भी पहुंच चुके हैं। उन्होंने सिर्फ कुछ महीनों पहले ट्विटर पर अपना नाम दर्ज किया है और इतने कम समय में यहां तक पहुंचना एक उपलब्धि कही जा सकती है। वह हंसते हुए कहते हैं, ‘कुछ घंटे पहले तक मैं ट्विटर पर नंबर वन था। यह मेरे लिए बहुत खुशी की बात है क्योंकि मैं कभी भी, कहीं भी नंबर वन नहीं रहा। और यह बात मैं अपने नाती-पोते को भी बताना चाहूंगा।’

बच्चों का खेल?
हम उम्मीद करते हैं कि जब तक विक्रम के नाती-पोते होंगे, ट्विटर एक लंबा सफर तय कर चुका होगा। सिर्फ तीन साल पहले इंटरनेट की दुनिया में दाखिल होने वाली इस सोशल नेटवर्किग और माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ने अब तक अपने हजारों मुरीद बना लिए हैं। वेब मेट्रिक्स एलेक्सा के आंकड़े कहते हैं कि अमेरिका और जर्मनी के बाद भारत वह तीसरा देश है जहां लोग सबसे ज्यादा ट्विटर पर हैं। भारत में ट्विटर यूज करने वालों का प्रतिशत 7.8 है। इंटरनेट पर कारोबार का आकलन करने वाली कंपनी कॉमस्कोर इंक इससे आगे बढ़कर जनकारी देती है। कंपनी का कहना है कि भारत में ट्विटर का इस्तेमाल करने वाले ज्यादातर लोग 15 से 24 साल के बीच के हैं।

बेशक, ट्विटर का इस्तेमाल करने वाले ज्यादातर लोग युवा हैं लेकिन ये वे लोग नहीं जो ट्विटर पर सबसे ज्यादा असर छोड़ते हैं। ट्विटर को सबसे ज्यादा प्रभावित करने वाले लोगों की उम्र 30 साल या उससे ज्यादा है। ये लोग मीडिया, राजनीति और शिक्षा के क्षेत्र से जुड़े हुए हैं। ये वे लोग हैं जिनके विचारों से लोग प्रभावित होते हैं, जिनकी लिखी हुई बातों को लोग पढ़ना चाहते हैं।

‘ट्विटर बचकाना नहीं है।’ पश्चिम बंगाल पुलिस निदेशालय के आईजी हरमनप्रीत सिंह कहते हैं। ‘यह परिपक्व लोगों का जमावड़ा है। क्योंकि यहां फेसबुक की तरह बर्थडे रिमाइंडर्स या हार्टब्रेक कॉलम नहीं हैं। यहां लोगों को कम शब्दों में अपनी बात कहने का मौका मिलता है।’ 
 
यहां सब कुछ कहने की आजादी है
ट्विटर की खास बात क्या है? यही कि यहां आपको कम शब्दों में बहुत कुछ कहना होता है। जसा कि हरमनप्रीत कहते हैं, ‘दूसरी साइट्स मुङो इतनी अर्थपूर्ण नहीं लगीं।’ मीडिया पर्सन और फिल्म प्रोड्यूसर प्रीतिश नंदी भी इस बात से सहमत हैं। वह कहते हैं, ‘ट्विटर पर मुङो स्पेस, फ्रीडम और च्वाइस मिल गई।’ प्रीतिश ने ट्विटर पर दो महीने पहले साइन इन किया है। ईरान में चुनावों के दौरान विरोध दर्ज कराने में इस साइट ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। प्रीतिश इस वजह से इस साइट में दिलचस्पी लेने लगे। वह कहते हैं, ‘यहां सिर्फ राजनीति ही नहीं, किसी भी समसामयिक मुद्दे पर विचार प्रकट करने वाले लोग मौजूद हैं।’

हरमनप्रीत भी ट्विटर का इस्तेमाल सिर्फ अपनी बात कहने के लिए नहीं करते। वह इस साइट का इस्तेमाल इसलिए भी करते हैं कि दूसरों के विचार जन सकें। उनके भाई ने तीन महीने पहले ट्विटर से उनका परिचय करवाया था। वह कहते हैं, ‘मैं जनता हूं कि मैं सरकारी कर्मचारी हूं और मुङो थरूर की तरह गैर जिम्मेदाराना टिप्पणी नहीं करनी चाहिए (थरूर ने कैटल क्लास वाली अपनी टिप्पणी ट्विटर पर ही की थी)।’

पर कम शब्दों में..
ट्विटर को यह नाम उसके जन्मदाता जक डोरसी ने इसलिए दिया था क्योंकि उनकी कंपनी चाहती थी कि दुनिया भर की उत्तेजना, व्यग्रता और बेचैनी को कैद किया जा सके। शब्दकोश में ट्विटर का अर्थ है- चिड़ियों की चहचहाहट। इस साइट के लिए यह नाम इसलिए अच्छा था कि एसएमएस टाइप संदेशों के माध्यम से लोग अपनी बात लोगों को पहुंचा सकें- एक समूह में ट्विट कर सकें। उनकी चहचहाहट इंटरनेट की दुनिया में गूंजे।

जब ट्विटर की शुरुआत हुई, तब इस पर ट्विट करने वालों का मकसद सिर्फ नेटवर्किग और दोस्त बनाना था। वे बेमतलब की बातें भी किया करते थे। ऐसी बातें जिनके बारे में लोगों को दिलचस्पी भला क्यों कर होगी? अब भी प्रियंका चोपड़ा और गुल पनाग जसी ऐक्ट्रेसेज अपनी रोजमर्रा की जिंदगी के बारे में बातें किया करती हैं। लेकिन इनकी जिंदगी में दिलचस्पी लेने वालों की कमी नहीं। इनसे ठीक उलट, प्रीतिश नंदी जसे लोग राजनीति, संगीत, फिल्मों, दर्शन और कला पर चर्चा करते हैं।

लोगों का कहना है कि शॉर्ट मैसेज, यानी अधिक से अधिक 140 शब्दों में अपनी बात कहने की कला, बहुत प्रभावी होती है। ‘ट्विटर आपको बाध्य करता है कि आप अपनी बात टू द प्वाइंट कहें। मैं इसका इस्तेमाल अपने विचार प्रकट करने के लिए और दूसरों के विचारों को जानने के लिए करता हूं।’ दिल्ली के सेंटर फॉर पॉलिसी रिसर्च में स्ट्रैटेजिक स्टडीज के प्रोफेसर ब्रह्म चेलानी कहते हैं। चेलानी की ट्विट्स पर अक्सर उनके ताज लेखों के लिंक्स होते हैं। साथ ही वह विश्व भर में कहां क्या छप रहा है, उस पर भी संक्षिप्त जानकारियां देते रहते हैं।

हरमनप्रीत भी कम शब्दों में अपनी बात कहना पसंद करते हैं और गैलेरी नामक आर्ट मैगजीन की संपादक बीना सरकार एलिएस भी। बीना कहती हैं, ‘यह हाइकू की तरह है। यह काफी दिलचस्प है कि आप संक्षिप्त और प्रभावी सोच रखें। सिर्फ अपने विचारों का सारांश प्रस्तुत करें।’ (या यह हिंदी काव्य में दोहे की तरह है जहां दो पंक्ितयों में आपको सारगर्भित बात कहनी होती है)

फॉलो मी, माई फॉलोअर्स
बीना अभी साठ की हुई हैं। एक दोस्त ने उन्हें ट्विटर पर आने के लिए प्रेरित किया। ‘हालांकि मैं इस बात से घबराती थी कि ट्विटर पर मुझे बहुत से अनजान लोग मिलेंगे। लेकिन मैं उम्र के इस पड़ाव पर बदलते समय के साथ कदम मिलाना चाहती थी। मैं चाहती थी कि जन सकूं कि दुनिया कितनी तेजी से बदल रही है। मैं ट्विटर की पूरी कार्यप्रणाली के बारे में तो अब भी नहीं जनती लेकिन मुङो बहुत से फॉलोअर्स मिल गए हैं।’ हालांकि बीना अक्सर अपने फॉलोअर्स को जवाब नहीं देतीं।

इस मामले में प्रीतिश नंदी कुछ अलग हैं। वह अपने फॉलोअर्स के ट्विट्स का जवाब देने को हमेशा तैयार रहते हैं। वह बताते हैं, ‘मेरे फॉलोअर्स मुझसे हर रोज सैकड़ों सवाल करते हैं। मैं भी उन्हें जवाब देने की पूरी कोशिश करता हूं। उन्हें भी जवाब देता हूं जो मेरे विचारों से सहमत नहीं। इस तरह से उनके और मेरे बीच रिश्ता बनता और मजबूत होता है।’

वैसे मीडिया से जुड़े लोगों के बहुत से फॉलोअर्स होते हैं, चूंकि लोग उन्हें जानते हैं। जसा कि विक्रम चंद्रा बताते हैं, एक महीने में उनके दो हजर फॉलोअर्स बन गए। वह अपने काम के सिलसिले में ट्विटर पर आए थे। एनडीटीवी कनवरजेंस के सीईओ होने के नाते, उनके लिए यह जनना जरूरी थी कि ट्विटर कैसे काम करता है। फिर क्या था, सिर्फ एक महीने में वह इसके मुरीद बन गए। ‘ट्विटर यूजर्स की टिप्पणियां और सवाल, मेरे लिए बहुत उपयोगी होते हैं। मैं नक्सलियों पर एक कार्यक्रम कर रहा था। मैंने ट्विट पर लोगों से पूछा कि वे नक्सलियों पर क्या सोचते हैं। इसके बाद मुझे सैकड़ों लोगों की प्रतिक्रिया मिली। मैंने अपने कार्यक्रम में उन प्रतिक्रियाओं को शामिल किया।’ वह अपनी बात खत्म करते हैं।

विक्रम  चंद्रा
twitter.com/vikramchandra
यह लेख प्रेस में जाने तक विक्रम द्वारा लिखी गई आखिरी ट्विट- एक समय वह भी था जब नक्सल आंदोलन के प्रति सहानुभूति रखने वालों के लिए यह माना जाता था कि वे सह्रदय हैं।        
फॉलोअर्स- 2,526

प्रीतिश नंदी
twitter.com/pritishnandy
यह लेख प्रेस में जाने तक प्रीतिश द्वारा लिखी गई आखिरी ट्विट- कैटरीना कैफ के सुझाव के बाद रेशल को शादी करते हुए देखा। आप भी देखना चाहें तो डीवीडी खरीद लाएं।
 फॉलोअर्स- 5,995 थरूर
http://twitter.com/shashi tharoor
फॉलोअर्स - 287,818

यह लेख प्रेस में जाने तक थरूर द्वारा लिखी गई आखिरी ट्विट- बहरीन के प्रधानमंत्री से चर्चा, इसके बाद व्यापार और उद्योग, सामाजिक विकास और Þाम मंत्रियों से ठोस चर्चा, अच्छे परिणाम

मल्लिका शेरावत
http:// twitter.com/mallikala
फॉलोअर्स-  20,381
यह लेख प्रेस में जाने तक मल्लिका द्वारा लिखी गई आखिरी ट्विट- आगरा जते हुए.. काफी समय बाद अपने देश के किसी शहर में घूमने ज रही हूं। यहां सब कुछ कितना प्यारा है और हवा बहुत सुहानी है।

गुल पनाग
http://twitter.com/gulpanag
फॉलोअर्स-  21,582
यह लेख प्रेस में जानेतक गुल द्वारा लिखी गई आखिरी ट्विट- डबिंग स्टूडियो का एसी बहुत तेज है और मुङो बहुत सर्दी लग रही है। काश मैं अपना स्वेटर साथ ले आती।

प्रियंका चोपड़ा
http://twitter.com/priyankachopra 
फॉलोअर्स-66,323
यह लेख प्रेस में जानेतक प्रियंका द्वारा लिखी गई आखिरी ट्विट- दिल्ली के रास्ते में हूं.. बारिश का मौसम है.. ऐसे में विमान यात्रा बहुत जोखिम भरी होती है। हां, वहां अपनी बेस्ट फ्रेंड से मिलूंगी, वह भी काफी समय बाद। इसलिए मैं बहुत उत्साहित हूं।

चेतन भगत
http://twitter.com/chetan_bhagat
फॉलोअर्स- 12,553
यह लेख प्रेस में जाने तक चेतन द्वारा लिखी गई आखिरी ट्विट- यह काफी दिलचस्प है कि लगातार दो दिनों तक काम करने के बावजूद भारतीय रेलवे के इंजन ड्राइवर्स हड़ताल नहीं करते। पर एयरलाइन पायलट्स उनसे कितने अलग हैं। उनकी हड़ताल जारी है।

बरखा दत्त
http://twitter.com/bdutt 
फॉलोअर्स- 21,331

यह लेख प्रेस में जानेतक बरखा द्वारा लिखी गई आखिरी ट्विट- डिलेड फ्लाइट के चलते मुंबई पहुंचने में बहुत वक्त लग गया। यहां उद्धव ठाकरे से इंटरव्यू करना है। पूरा दिन लग जाएगा। सो नहीं पाऊंगी।

राजदीप सरदेसाई
http://twitter.com/sardesairajdeep 
फॉलोअर्स-  6,995
यह लेख प्रेस में जानेतक राजदीप द्वारा लिखी गई आखिरी ट्विट- दोस्तों, सुबह तक के लिए अलविदा। मंडे मॉर्निग ब्ल्यू से ग्रस्त हो रहा हूं। मेरे लेखन को अपने जेहन में ताजा रखिएगा।

करण जौहर
http://twitter.com/kjohar25
फॉलोअर्स- 25,337
यह लेख प्रेस में जाने तक करण द्वारा लिखी गई आखिरी ट्विट- फ्लाइट डिले हो गई है। उम्मीद करता हूं कि संपर्क सूत्र कायम रहेगा।

सोनम कपूर
http://twitter.com/sonamkapoor 
फॉलोअर्स- 18,518
यह लेख प्रेस में जाने तक सोनम द्वारा लिखी गई आखिरी ट्विट-संयोग उत्पन्न करके, ईश्वर अपनी अनाम सत्ता का अहसास कराता है
- अल्बर्ट आइंस्टाइन


इमरान खान
http://twitter.com/imrankhan 
फॉलोअर्स-  15,079
यह लेख प्रेस में जानेतक इमरान द्वारा लिखी गई आखिरी ट्विट- ओह, मैं आपको एक बात बताना तो भूल ही गया। मैं माइक्रोसॉफ्ट में काम करने वाले एक शख्स से मिला था और वह मुझे एक्स बॉक्स 360 गेम्स भेज रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ट्विटर पर चटर-पटर