DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राज्यपाल को परेशानी जेई पर भारी पड़ी, जवाब तलब

राज्यपाल के आगमन पर सर्किट हाउस के दो वीआईपी शूइट ‘संगम’ और ‘त्रिवेणी’  में जलापूर्ति के लिए लगी टंकी में पानी न होने की पड़ताल शुरू हो गई है। सर्किट हाउस के आवंटन से लेकर अन्य इंतजाम देखने वाले एडीएम सिटी प्रदीप कुमार ने इस मामले में जिम्मेदार कर्मियों को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है।

रविवार को अफसरों के बीच इस मामले की खूब चर्चा रही क्योंकि इस प्रकरण की जानकारी काफी कम लोगों को थी। सरकिट हाउस का ‘संगम’ और ‘त्रिवेणी’ शूइट (कमरा) वीआईपी है। राष्ट्रपति, राज्यपाल, प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, मुख्य निर्वाचन आयुक्त के आगमन पर उनके ठहरने का इंतजाम इन्हीं में किया जाता है। वीआईपी को तकलीफ न हो इसी मकसद से दोनों शूइट में जलापूर्ति के लिए अलग टंकी लगाई गई है।

शुक्रवार रात इस टंकी में पानी खत्म हो गया था, जिससे राज्यपाल बीएल जोशी को परेशानी हुई थी। टंकी में पानी भरने का जिम्मा लोक निर्माण विभाग के इलेक्ट्रिकल डिवीजन में तैनात जेई और इलेक्ट्रिशियन का था। शनिवार सुबह प्रकरण की जानकारी होने के बाद जब डीएम राजीव अग्रवाल ने दोनों से पूछताछ की तो उन्होंने टंकी में पानी भरने की बात कही।

डीएम ने टंकी देखी तो उसमें पानी नहीं था। फिर पानी कहां गया? एडीएम सिटी ने इसी बारे में जवाब तलब किया है। माना जा रहा है कि जवाब मिलने के बाद जिम्मेदारी तय करते हुए लापरवाह अधिकारी और कर्मचारी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राज्यपाल को परेशानी जेई पर भारी पड़ी