DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शराब कांडः तीन सहायक आबकारी आयुक्त हटाए गए

शासन ने तीन सहायक आबकारी आयुक्त (एसईसी) और दो आबकारी निरीक्षकों का तबादला कर दिया है। प्रशासनिक आधार पर जनहित में किए गए इन तबादलों का आदेश आबकारी आयुक्त सुधीर एम.बोबडे की बजाय सीधे प्रमुख सचिव आबकारी नेतराम ने जारी किया है।

माना जा रहा है कि ये तबादले सहारनपुर जिले में विषाक्त शराब पीने से होने वाली मौतों के न रुकने के कारण किए गए हैं। पखवारे भर पहले सहारनपुर जिले के देवबंद में विषाक्त शराब से तीस लोग मारे गए थे, जबकि चार दिन पहले इसी वजह से पांच और मौतें हुईं थीं।

प्रमुख सचिव ने सहारनपुर के सहायक आबकारी आयुक्त (प्रवर्तन) डीपी सिंह को इसी पद पर मुरादाबाद स्थानांतरित कर दिया है जबकि मुरादाबाद में तैनात सहायक आबकारी आयुक्त (प्रवर्तन) अरविंद राय को सहारनपुर के सहायक आबकारी आयुक्त (प्रवर्तन) का जिम्मा सौंपा गया है। हाल में विषाक्त शराब से हुई मौतें इस बात का गवाह है कि सहारनपुर में अभी विषाक्त शराब की बिक्री रुकी नहीं है। विषाक्त शराब बनाने और बेचने वालों के खिलाफ प्रवर्तन कार्य कमजोर होना भी इसकी एक बड़ी वजह है।

लखीमपुर खीरी स्थित पलिया आसवनी में तैनात सहायक आबकारी आयुक्त कुंवर स्कंद सिंह को मुजफ्फरनगर का जिला आबकारी अधिकारी बनाया गया है। यहां के जिला आबकारी अधिकारी का चार्ज अब तक इसी जिले के खतौली क्षेत्र में तैनात आबकारी निरीक्षक आलोक कुमार के पास था। आलोक को भी स्थानांतरित कर दिया गया है।

उन्हें बिजनौर में आबकारी निरीक्षक (अभियोजन) के पद पर भेजते हुए गाजियाबाद की मोदी आसवनी में तैनात आबकारी निरीक्षक बजरंग बहादुर सिंह को आलोक कुमार की जगह नियुक्त किया गया है। आबकारी निरीक्षक आलोक बतौर सहायक आबकारी आयुक्त कैराना और बिदौली चेकपोस्ट, मंसूरपुर आसवनी के साथ ही दो चीनी मिलों का भी काम देख रहे थे।

एक साथ सात पदों का काम देख रहे आलोक को हटाकर महत्वहीन माने जाने वाले पद पर तैनात करने पर विभाग में कई तरह की चर्चा है। बहरहाल, प्रमुख सचिव ने कहा है कि स्थानांतरित कार्मिक तत्काल नवीन तैनाती स्थल पर कार्यभार ग्रहण कर इसकी सूचना शासन को भेजेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शराब कांडः तीन सहायक आबकारी आयुक्त हटाए गए