DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नया कानून बनने तक न ली जाए किसानों की जमीनः कांग्रेस

कांग्रेस ने एक बार फिर यूपी में भूमि अधिग्रहण का मुद्दा उछाला है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रीता बहुगुणा जोशी ने कहा है कि किसानों की भूमि के अधिग्रहण को लेकर जब तक केन्द्र में कानून नहीं बन जाता तब तक राज्य सरकार किसानों की भूमि अधिग्रहित न करे। श्रीमती जोशी ने कहा कि अन्य राजनीतिक दल कांग्रेस द्वारा आयोजित दलित चौपालों पर इसलिए सवाल उठा रहे हैं, क्योंकि उनका अपना वोट बैंक खिसक रहा है।

श्रीमती जोशी ने रविवार को यहां उप्र की भूमि अधिग्रहण नीति पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि भूमि अधिग्रहण को लेकर राज्य सरकार की नीति कमीशन खोरी की नीति है। सरकार किसानों की महंगी जमीन पूंजीपतियों को कौड़ी के भाव बेच रही है। कांग्रेस इसका विरोध करेगी।

उन्होंने बताया कि पिछले साल सोनिया गांधी ने किसान रैली में वादा किया था कि केन्द्र सरकार किसानों की जमीन के अधिग्रहण के बाबत केन्द्र में कानून लाएगी। उन्हीं के प्रयासों से यह बिल लोकसभा में पारित भी हो गया है। श्रीमती जोशी ने कहा कि अब कांग्रेस राज्य सरकार पर इस बात का दबाव बनाएगी कि जब तक केन्द्रीय कानून नहीं लागू हो जाता तब तक राज्य सरकार किसानों की भूमि अधिग्रहित न करे।

श्रीमती जोशी ने यही बातें चंदौसी में आयोजित एक सभा में भी उठाईं। चंदौसी में रविवार को सपा, बसपा और भाजपा के कई नेता अपनी पार्टियां छोड़ कर कांग्रेस में शामिल हो गए। इनमें भाजपा युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष राकेश शंकधर, सतीश प्रेमी, बसपा के पुतान खान, सपा के हाजी जमालुद्दीन आदि अपने समर्थकों के साथ कांग्रेस के प्राथमिक सदस्य बन गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नहीं ली जाएगी किसानों की जमीन