DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

त्योहारी सीजन में देशी घी बाजार से गायब

साइबर सिटी के लोगों की दीवाली फीकी रह सकती है। अब बाजार से देशी घी गायब हैं। विभागीय कार्रवाई के डर से दुकानदार घी बेचने से कतरा रहे है। हालांकि कुछ दुकानदार चोरी-छिपे ऊंचे दाम पर घी बेच रहे हैं।


एनसीआर के शहरों में घी में मिलावट की घटनाओं को देखते हुए दुकानदारों ने इसे लेकर संयम बरतने लगे है। क्योंकि शहर में अधिकतर घी यूपी और राजस्थान से आता है। एक व्यापारी ने बताया कि नवरात्र तक किसी तरत से देशी घी की आपूर्ति की जा सकी। लगातार मिलावट की खबर और विभागीय कार्रवाई को देखते हुए दीपावली तक ना बेचना ही बेहतर समझा। चार-आठ मारला के एक दुकानदार ने बताया कि एक किलो घी की कीमत ढाई सौ रूपये के करीब है। इस पर लाभ पांच रूपये मिलते है। जबकि जब अधिकारी जांच के लिए आते है तो इससे अधिक खर्च हो जाता है और अनावश्यक परेशानी उठानी पड़ती है। ऐसे में जिस कंपनी का माल बेचा जा रहा है इसकी भी क्या गांरटी है कि मिलावट है या नहीं। दूसरी ओर थोक विक्रेता भी अधिक स्टॉक नहीं रख रहे है। क्योंकि खुदरा व्यापारी घी बेचने से भाग रहे है। दुकानों पर घी की कमी के कारण लोगों को त्योहार पर दिक्कत उठानी पड़ सकती है। दूसरी ओर कुछ दुकान इसका मोका उठाकर मंहगा रेट पर बेच रहे है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:त्योहारी सीजन में देशी घी बाजार से गायब