DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नक्सलियों का दो दिनी झारखंड बंद शुरू

नक्सलियों का दो दिवसीय झारखंड-बिहार बंद आधी रात से शुरू हो गया। नक्सलियों के खिलाफ अभियान के खिलाफ यह बंद बुलाया गया है। बंद से निपटने के लिए प्रशासन ने पूरे राज्य में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने का दावा किया है। सभी उपायुक्तों और आरक्षी अधीक्षकों को संवेदनशील इलाकों में पुलिस बल तैनात करने का निर्देश दिया गया है। सीआरपीएफ के जवानों को भी लगाया जा रहा है। आवश्यक सेवाओं और प्रेस को बंद से मुक्त रखा गया है।

इस साल सबसे ज्यादा बंद : नक्सलियों द्वारा इस साल सबसे अधिक बंद बुलाया गया है। अब तक 46 दिन बंद बुलाया जा चुका है। झारखंड बनने के बाद से नक्सलियों द्वारा अब तक कुल 168 दिन बंद बुलाया जा चुका है।
करीब 1500 मारे गए : झारखंड के 24 में से 22 जिले नक्सल प्रभावित हैं। इन जिलों में नक्सलियों के हाथों राज्य बनने के बाद से अब तक करीब डेढ़ हजार लोग मारे जा चुके हैं। इनमें 410 पुलिसकर्मी भी शामिल हैं। नक्सलियों ने एक सांसद और दो विधायकों को भी निशाना बनाया है। 

पिपरा का संपर्क कटा : इस बीच शनिवार की रात माओवादियों ने मेदिनीनगर जिले के हरिहरगंज थाना क्षेत्र में सुल्तानी घाटी से जपला की ओर जानेवाली सड़क को जेसीबी मशीन लगाकर तीन जगह पर तोड़ डाला। उन्होंने बतरे पुल की दोनों तरफ करीब 20 फीट गड्ढा खोद डाला।

बभंडीह गांव के पास ग्रेड वन सड़क पर गड्ढा कर दिया और गहौरा मोड़ के समीप पुलिया को क्षतिग्रस्त कर दिया। इससे नवसृजित पिपरा प्रखंड का संपर्क हरिहरगंज से कट गया है। एसपी जतिन नरवाल ने बताया कि करीब 11 बजे रात में इस घटना को अंजाम दिया गया। पुलिस मूवमेंट को रोकने के लिए ऐसा किया गया है।हमले का ऐलान : घटनास्थल पर नक्सलियों ने पोस्टर भी साटे हैं। इन पोस्टरों में सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह और पी चिदंबरम पर हमला करने का ऐलान किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नक्सलियों का दो दिनी झारखंड बंद शुरू