DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डेंगू के संदिब्ध मामले में बढ़ोतरी,स्वास्थ्य विभाग लापरवाह

स्वाइन फ्लू का खौफ ने भले ही डेंगू को पीछे छोड़ दिया हो लेकिन गाजियाबाद का कई इलाका डेंगू के लिए काफी संवदेनशील है। ट्रांस हिंडन,विजयनगर,प्रतापविहार,राजेंद्रनगर आदि इलाके के लोग अभी भी डेंगू के खौफ से अभी भी नहीं उबर पाए हैं। पिछले दो वर्षो के दौरान इन क्षेत्रों में डेंगू से कई लोगों की मौत हो गई थी। इस बार डेंगू की पुष्टि तो महज एक मरीज में हुई है लेकिन डेंगू का लार्वा मिलने का सिलसिला लगातार जारी है। मौसम की मेहरबानी के कारण इस बार डेंगू स्वास्थ्य विभाग के लिए पिछले वर्ष की तरह मुसीबत नहीं पैदा कर पाया। लेकिन एक सप्ताह से हो रही शहरी क्षेत्रों में डेंगू के संदिग्ध मरीजों की संख्या में काफी बढ़ोतरी हुई है।


डेंगू का मामला भले ही इस साल ना मिला हो लेकिन पाश कलोनियों और सरकारी दफ्तरों में डेंगू के लार्वा मिलने का सिलसिला जारी है। कुछ समय पहले एसएसपी कार्यालय में एक दजर्न डेंगू के लार्वा मिलने से हड़कंप मच गया था। शिप्रा सनसिटी के अपार्टमेंट और स्वीमिंग पूल में भी बड़ी संख्या में डेंगू का लार्वा पाया गया था। इसके अलावा आजकल स्कूलों में भी डेंगू के लार्वा पाए जा रहे हैं। सारे मामलों में स्वास्थ्य विभाग की ओर से सफाई दी जाती है कि लोगों की लापरवाही के कारण ही डेंगू के लार्वा मिल रहे हैं। जबकि लोगों का कहना है कि स्वास्थ्य विभाग की ओर से छिड़काव का काम नहीं होता है। जब लार्वा मिलते हैं तो विभाग छिड़काव कराकर खानापूर्ति करता है।
हर वर्ष की तरह इस बार भी स्वास्थ्य विभाग डेंगू से निबटने के लिए अपने को सक्षम बता रहा है। विभागीय अधिकारी का दावा है कि शहरी और ग्रामीण इलाके के लिए प्र्याप्त मात्र में दवा है और ज्यादातर इलाकों में छिड़काव का काम पूरा हो चुका है। लेकिन विभाग के ज्यादातर दावे कागजी ही साबित होते हैं। जिला मलेरिया अधिकारी डा.ज्ञानेंद्र मिश्र का कहना है कि संवदेनशील इलाके का सर्वे करा लिया गया है और एंटी लार्वा दवा का छिड़काव करा दिया गया है। इसके अलावा सीएमओ की ओर से चेतावनी भी जारी कर दिया गया है कि अगर किसी के घर से या दफ्तर से डेंगू का लार्वा मिलता है तो उनके खिलाफ आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। डेंगू से बचाव के लिए विभाग की ओर से लगातार पम्पलेट भी बांटे जा रहे हैं। लेकिन इसके बावजूद हर निरीक्षण में डेंगू के लार्वा मिल रहे हैं। और तो और स्वयं सीएमओ आफिस परिसर में भी डेंगू का लार्वा मिल चुका है। इस मामले में स्वास्थ्य विभाग को सफाई भी देनी पड़ी थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:डेंगू के संदिब्ध मामले में बढ़ोतरी,स्वास्थ्य विभाग लापरवाह