DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चण्डीगढ़ में पसंद आ रहा है ‘दरवाजे पर पुस्तकालय’

चंडीगढ़ में वरिष्ठ नागरिकों और विकलांगों के लिए उनके घरों तक किताबें और पत्रिकाएं को पहुंचाने की ‘दरवाजे पर पुस्तकालय’ योजना को लोग पंसद कर रहे हैं।

चंडीगढ़ प्रशासन के लाइब्रेरियन सूरज पी. नागपाल ने कहा, ‘‘इस योजना को वरिष्ठ नागरिकों और विकलांगों की जरुरतों को ध्यान में रखकर शुरू किया गया था। इस योजना को उत्साहजनक प्रतिक्रिया मिल रही है।’’

नागपाल ने कहा कि पुस्तकों और पत्रिकाओं के लिए हमारे कर्मचारियों के पास प्रतिदिन वरिष्ठ और विकलांग नागरिकों के चार या पांच फोन कॉल आ जाते हैं। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय सामाजिक सेवा (एनएसएस) के कार्यकर्ता घरों तक किताबें और पत्रिकाएं पहुंचाने और लाने का काम करते हैं।

गौरतलब है कि इस योजना को ‘विश्व साक्षरता दिवस’ के अवसर पर आठ सितम्बर को शुरू किया गया था। पुस्तकें और पत्रिकाएं सप्ताह में तीन दिन यानी सोमवार, बुधवार और शनिवार को मुहैया कराई जाती हैं।

इस योजना के बारे में 80 वर्षीय आर.एस.दुग्गल ने कहा,‘‘ यह योजना काफी अच्छी है लेकिन हम इसमें कुछ बदलाव चाहते हैं। हमें पुस्तकों और पत्रिकाओं की सूची की आपूर्ति भी की जानी चाहिए ताकि हमारे पास चयन का विकल्प मौजूद रहे।’’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चण्डीगढ़ में पसंद आ रहा है ‘दरवाजे पर पुस्तकालय’