DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अदालत ने बलात्कार के आरोपी को दोषमुक्त करार दिया

दिल्ली की एक अदालत ने एक लड़की के अपहरण और बलात्कार के आरोपी एक व्यक्ति को यह कहते हुए दोषमुक्त करार दिया है कि लड़की वयस्क थी और लड़के के साथ अपनी मर्जी से गई थी।

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश सुनीता गुप्ता ने कहा लड़की द्वारा घटना के बारे में किसी से शिकायत न करना, पुलिस के सामने दिया बयान, मां से मिलने जाने के दौरान बजाय शिकायत करने के उसके चेहरे पर प्रदर्शित खुशी से आरोपों के बारे में संदेह पैदा होता है।

अदालत ने यह कहते हुए उत्तर—पूर्वी दिल्ली के निवासी ओमपाल पर लगे अपहरण और बलात्कार के आरोपों से उसे मुक्त कर दिया।

फैसले में कहा गया है यह बहुत अनुचित लगता है कि आरोपी यह जानता होगा कि लड़की इतनी रात में अपने घर से बाहर आएगी और उसके बाद आरोपी अपने साथियों के साथ उसका अपहरण कर लेगा। ऐसा लगता है कि लड़की का आरोपी के साथ जाना पूर्व—नियोजित था।

स्कूल के रिकॉर्ड के आधार पर अदालत ने निष्कर्ष निकाला कि लड़की अवयस्क नहीं थी।

अदालत ने कहा परिस्थितियों से स्पष्ट होता है कि यह लड़की का आरोपी के साथ शादी करने के लिए उसके साथ इच्छा से जाने का मामला है।

पुलिस ने अपनी जांच में पाया था कि लड़की का आरोपी के साथ प्रेम संबंध था। अदालत ने इस तथ्य पर भी ध्यान दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अदालत ने बलात्कार के आरोपी को दोषमुक्त करार दिया