DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिष्या संग पकड़े गए झारखण्ड से आए ‘मटुकनाथ’

शिष्या को इतिहास-भूगोल पढ़ाते-पढ़ाते ‘मटुकनाथ’ ने प्रेम का ऐसा पाठ पढ़ाया कि वह गुरुजी के साथ घर से भाग निकली। झारखण्ड से शिष्या को लेकर आए गुरुजी यहाँ रामबाग में किराए पर कमरा लेकर रहने लगे। उधर, झारखण्ड पुलिस को छात्र के फोन से उसकी लोकेशन मिली तो उसने कीडगंज पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने शनिवार को दोनों को पकड़ लिया और थाने ले गई। छात्र के घरवालों को सूचना दे दी गई है।

झारखण्ड के जोगता निवासी हरबचन की पुत्री सुबोधा (दोनों नाम असली नहीं) कतरात में सीएवी कालेज में पढ़ती थी। उसे सूरज भानु सरोज निवासी धनबाद टय़ूशन पढ़ाता था। इसी दौरान सूरज और सुबोधा में दोस्ती हो गई। हरबचन को इसका पता चला तो उसने बेटी को समझाया लेकिन इसके बाद भी दोनों का सम्बन्ध बना रहा। हरबचन ने सूरज को घर आने से रोक दिया। बेटी के कालेज जाने पर भी पाबंदी लगा दी गई।

एक दिन मौका पाकर सुबोधा घर से निकली और सूरज के साथ भागकर रामबाग आ गई। दोनों ने खुद को पति-पत्नी बताते हुए किराए पर कमरा ले लिया। लेकिन घर की याद आने पर सुबोधा घरवालों से फोन पर बात करती रही। घरवालों ने सूरज के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करा दी थी।

पुलिस ने सुबोधा के फोन को सर्विलांस पर लगवाया और उसकी लोकेशन पता की। रामबाग लोकेशन मिलने पर उसकी जानकारी कीडगंज पुलिस को दी गई। एसआई अमित पाण्डेय हमराहियों के साथ पहुँचे और दोनों को थाने ले गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शिष्या संग पकड़े गए झारखण्ड से आए ‘मटुकनाथ’