DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टीजीटी पर्चा आउट मामले को लेकर राज्यपाल गंभीर

शनिवार को टीजीटी के अभ्यर्थी सर्किट हाउस में राज्यपाल बीएल जोशी से मिले और पर्चा आउट से संबंधित साक्ष्य और समाचार पत्रों की कटिंग सौंपी। राज्यपाल ने कहा कि वह इस मामले को लेकर गंभीर हैं और इसका शीघ्र निस्तारण करवाएंगे, इसलिए अभ्यर्थियों को परेशान होने की जरूरत नहीं है। उधर, शनिवार को चयन बोर्ड कार्यायल बन्द था लेकिन अभ्यर्थियों ने अनशन जारी रखा। सभी ने कहा कि यदि मामले का समाधान नहीं हुआ तो दीपावली भी चयन बोर्ड पर ही मनाई जाएगी।

शनिवार सुबह करीब दस बजे बड़ी संख्या में अभ्यर्थी चयन बोर्ड कार्यालय पर एकत्र हुए। वे विश्वविद्यालय मार्ग, कटरा, मनमोहन पार्क होते हुए सर्किट हाउस जाने का कार्यक्रम बना रहे थे। सीओ कर्नलगंज और इंस्पेक्टर कर्नलगंज ने किसी तरह से अभ्यर्थियों को समझा बुझाकर राज्यपाल से मिलने के लिए एक प्रतिनिधिमण्डल भेजने का आग्रह किया। करीब एक घण्टे की मशक्कत के बाद पाँच अभ्यर्थी पुलिस गाडी से राज्यपाल से मिलने के लिए सर्किट हाउस पहुंचे।

अभ्यर्थियों ने राज्यपाल को पेपर आउट से संबंधित सबूत, पुलिस एफआईआर की कापी और पर्चा आउट मामले के बाद समाचार पत्रों में छप रही खबरों की कटिंग भी सौंपी। सभी ने माँग की कि जब तक परीक्षा निरस्त नहीं होगी तब तक आन्दोलन जारी रहेगा। राज्यपाल ने कहा कि उन्हें मामले की जानकारी है। दो लाख छात्र-छात्रओं के भविष्य का सवाल है इसलिए शीघ्र कार्र्रवाई होगी। प्रतिनिधिमण्डल ने पुलिस द्वारा परेशान किए जाने और चयन बोर्ड द्वारा अभी तक मामले की जाँच शुरू न किए जाने की भी शिकायत की।

प्रतिनिधिममण्डल में आइसा के प्रदेश उपाध्यक्ष सुनील मौर्या, प्रतियोगी छात्र मोर्चा के अध्यक्ष शारदा प्रसाद सिंह, कोषाध्यक्ष राजाराम गुप्ता, अश्वनी राजू और नागेन्द्र शामिल थे। अभ्यर्थियों ने कहा कि क्रमिक अनशन जारी रहेगा। अगर दीपावली तक मामले का निस्तारण नहीं होता है तो अभ्यर्थी विरोध स्वरूप चयन बोर्ड पर ही दीपावली मनाएँगे। धरना प्रदर्शन में दयाराम कुशवाहा, विनय मिश्र, शिव प्रकाश, शशि प्रकाश, हरेन्द्र यादव, योगेशनाथ तिवारी सहित बड़ी संख्या में अभ्यर्थी मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:टीजीटी पर्चा आउट मामले को लेकर राज्यपाल गंभीर