DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाकिस्तान से जुड़े़ हैं काबुल हमले के तारः भारत

पाकिस्तान से जुड़े़ हैं काबुल हमले के तारः भारत

काबुल स्थित भारतीय दूतावास पर हुए हमले में पाकिस्तानी तार की ओर संकेत देते हुए भारत ने शनिवार को कहा कि अफगानिस्तान के समक्ष आतंकवाद और सीमा पार स्थित उनके आकाओं से खतरा है तथा विस्फोट के पीछे उन लोगों का हाथ था जो भारत-अफगान मैत्री को कमजोर करना चाहते हैं।
    
गुरुवार को विस्फोट के बाद काबुल की दो दिवसीय यात्रा से लौटी विदेश सचिव निरुपमा राव ने कहा कि भारत ऐसे हमलों से घबराने वाला नहीं है। निरुपमा ने विकास के लिए द्विपक्षीय साझेदारी बढ़ाने और अफगानिस्तान को लोकतांत्रिक, शांतिपूर्ण तथा समद्ध देश बनाने के लिए वहां की जनता को मदद करने के प्रति प्रतिबद्धता दोहरायी>

 उन्होंने कहा कि इस हमले के पीछे साफ तौर पर उन लोगों का हाथ है जो भारत-अफगान मैत्री को कमजोर करने के लिए बेचैन हैं और एक मजबूत, लोकतांत्रिक तथा बहुलतावादी अफगानिस्तान में विश्वास नहीं करते हैं। पाकिस्तान की ओर परोक्ष तौर पर इशारा करते हुए निरुपमा ने कहा कि विश्व समुदाय और अफगानिस्तान के लोगों को आतंकवादियों से और सीमापार स्थित उनके आकाओं से खतरा है।
       
अफगानिस्तान हमले के तार पाकिस्तान से जुड़े होने का संकेत पहले ही दे चुका है। विदेश मंत्रलय ने कहा है कि विस्फोट की साजिश और उसे अंजाम देने की कार्रवाई अफगानिस्तान से बाहर हुई।
       
कायरतापूर्ण हमले पर गहरी चिंता जताते हुए निरुपमा ने कहा कि साफ तौर पर इसका निशाना भारतीय और अफगानिस्तान की जनता तथा उनके बीच मित्रता थी। निरुपमा राव ने अफगानिस्तान में राष्ट्रपति हामिद करजई, विदेश मंत्री रांगिन दादफर स्पांता और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जलमई रसूल से मुलाकात की।
      
विदेश मंत्रालय की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि इस बात पर आम सहमति है कि हमले को अंजाम अफगानिस्तान के बाहर स्थित तत्वों ने दिया जो भारत और अफगानिस्तान के बीच बहुत अच्छे संबंधों को नुकसान पहुंचाना चाहते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पाकिस्तान से जुड़े़ हैं काबुल हमले के तारः भारत