DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रामराज ना भी लाएं तो भयमुक्त बनाएं समाज

‘मैंने आप सबों को बार-बार सचेत किया..। भूमि विवाद पर विशेष ध्यान दीजिए। फिर भी एक जिले (खगड़िया) में एक दुखद हादसा हो गया। आप जनता की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए ही जिलों में भेजे गए हैं। हम राजराज का दावा तो नहीं करते लेकिन समाज को भयमुक्त तो बनाना ही होगा। इसमें आपका सहयोग चाहिए। आप एसपी हैं। जिले को ठीक रखिए। कुछ स्वार्थी तत्व और सामाजिक सौहाद्र्र के दुश्मन आए दिन शांति-व्यवस्था के माहौल को बिगाड़ने का प्रयास कर रहे हैं। सजग रहिए..।’

शनिवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रमंडलों और जिलों में तैनात शीर्ष पुलिस अफसरों को उनका काम याद दिलाते हुए वर्दी में ही डय़ूटी करने की सलाह दे डाली।   ‘संवाद’ में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री के संबोधन के लिए 30 मिनट का समय तय था लेकिन वह लगभग एक घंटे तक बोले। ‘खगड़िया का रक्तपात’ की चर्चा करते हुए वह बोले- मैं आपको सचेत कर रहा हूं कि भविष्य में भूमि विवाद के कारण कोई आपराधिक घटना नहीं होनी चाहिए। एक बात और..।

महिलाओं और बच्चियोंके साथ छेड़छाड़ की घटनाओं को हम बर्दाश्त नहीं करेंगे। पुलिस को याद रखना होगा कि लोकतंत्र में वर्दीधारियों पर जन प्रतिनिधियों का नियंत्रण होता है। जनप्रतिनिधियों को ही यह तय करने का अधिकार है कि राज्य में किस तरह का कानून लागू होगा। इसलिए उनके साथ अच्छा व्यवहार होना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्पीडी ट्रायल को सफल बनाने में पुलिस की भूमिका महत्वपूर्ण रही है। आप सबों  के परिश्रम से ही राज्य में अब सांप्रदायिक दंगे नहीं होते। अपराधी भयभीत है। सामाजिक सदभाव बरकरार है। राज्य विकास की तरफ अग्रसर है। यह माहौल कायम रखना चाहिए..।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रामराज ना भी लाएं तो भयमुक्त बनाएं समाज