DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सोनभद्र में शिशु की मौत के बाद क्लीनिक पर हंगामा

नगर के गीता मंदिर के पास स्थित एक निजी क्लीनिक पर इलाज के दौरान शिशु की मौत पर नागरिकों ने जमकर हंगामा मचाया। हंगामे के बीच पहुंची पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करते हुए शव को अपने कब्जे में ले लिया। मृत शिशु के पिता की तहरीर पर पुलिस ने शव का पंचनामा करते हुए उसे पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया।

प्राप्त समाचार के अनुसार, परसोई ग्राम पंचायत के रामप्रसाद अपने एक वर्षीय पुत्र के बीमार होने पर सेक्टर-8 में गीता मंदिर के पास स्थित एक निजी क्लीनिक पर इलाज कराने आये थे। शनिवार की सुबह चिकित्सक ने उसे इंजेक्शन लगाते हुए सिरप की खुराक दी। लेकिन आधे घंटे बाद ही अचानक शिशु की मौत हो गयी। शिशु की मौत होने के बाद उसके माता-पिता के रोने-धोने की आवाज सुनकर वहां भीड़ जुटने लगी।

भारी संख्या में उपस्थित नागरिकों ने क्लीनिक में घुसकर नारेबाजी शुरू कर दी। नागरिकों की इस दौरान क्लीनिक वालों से जमकर झड़प हुई। देखते ही देखते क्लीनिक में तनाव काफी बढ़ गया। नागरिकों ने क्लीनिक को बंद कराने की मांग की। घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने भीड़ को हटाते हुए शव को कब्जे में लेकर चिकित्सक एवं शिशु के पिता से पूछताछ की।

इस दौरान चिकित्सक डॉ. ओ.पी.गुप्ता ने बताया कि, शिशु की हालत पहले से ही खराब थी, उसे इंजेक्शन व सिरप की खुराक दी गई, लेकिन उसकी स्थिति और खराब हो गई जिसके चलते उसकी मौत हो गई। उधर मृत शिशु के पिता रामप्रसाद ने बताया कि, एक हफ्ता पहले उसके बच्चाे की तबियत खराब हो गई थी, जिसका इलाज परसोई के एक झोलाछाप डाक्टर से कराया था तो उसकी हालत ठीक हो गई थी।

शनिवार को पुन: खराब हालत होने पर ओबरा अस्पताल में लाकर दिखाया, जहां इंजेक्शन लगने के कुछ ही देर बाद उसकी मौत हो गई। थानाध्यक्ष शिवानन्द मिश्र ने मामले की तफ्तीश के बाद शव का पंचनामा करते हुए पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सोनभद्र में शिशु की मौत के बाद क्लीनिक पर हंगामा