DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जीत से ही बनेगी दिल्ली की बात

जीत से ही बनेगी दिल्ली की बात

चैंपियंस लीग टवंटी 20 टूर्नामेंट के अपने पहले ही मैच में बुरी तरह से मात खाई दिल्ली डेयरडेविल्स को टूर्नामेंट के अगले दौर में पहुंचने के लिए रविवार को श्रीलंकाई टीम वायाम्बा के खिलाफ होने वाला मैच हरहाल में जीतना ही होगा।

शुक्रवार को खेले गए लीग के अपने पहले मुकाबले में दिल्ली को आस्ट्रेलियाई टीम विक्टोरिया बुश रेंजर्स केहाथों सात विकेट से करारी शिकस्त झेलनी पड़ी थी। इस मैच में दिल्ली के बल्लेबाज और गेंदबाज सभी असफल रहे थे, लेकिन दिल्ली के नवनियुक्त कप्तान गौतम गंभीर को वायाम्बा के खिलाफ होने वाले मैच की अहमियत पता है, इसलिए उन्होंने शुक्रवार को बुश रेंजर्स से मिली हार के बाद कहा था कि उनके लिए यह मैच करो या मरो का मुकाबला हो गया है। उन्होंने कहा कि हमें यह मैच किसी भी कीमत पर जीतना होगा। क्योंकि एक और हार का मतलब होगा टूर्नामेंट से बाहर होना।

अपने पहले मुकाबले में दिल्ली की टीम पूरी तरह असरहीन नजर आई। उसके बल्लेबाज और गेंदबाज कोई भी प्रभाव छोड़ पाने में असफल रहे। ओपनर कप्तान गंभीर और आक्रामक ओपनर वीरेंद्र सहवाग की जोड़ी पूरी तरह असफल रही। इसके अलावा तिलकरत्ने दिलशान भी बल्ले से कुछ ज्यादा कमाल नहीं दिखा सके।

जाहिर तौर पर दिल्ली के लिए यह वायाम्बा के खिलाफ होने वाला मुकाबला काफी अहम होने जा रहा है। इस मैच में गंभीर, सहवाग और दिलशान की तिकड़ी को अच्छा प्रदर्शन करना होगा तभी उनके टीम की नैया पार लगेगी।

दिल्ली के गेंदबाजों को भी अपने प्रदर्शन में सुधार लाने की जरूरत है। तेज गेंदबाज आशीष नेहरा और डिर्क नैन्स को इस मैच में शानदार प्रदर्शन करना होगा। वहीं, डेनियल विटोरी की अनुपस्थिति में अमित मिश्रा को भी विपक्षी बल्लेबाजों को बांधकर रखना होगा, लेकिन इतना तो तय है कि ग्रुप डी में होने वाला यह मुकाबला दिल्ली के लिए आसान नहीं होने जा रहा है।

वायाम्बा की टीम श्रीलंका की राष्ट्रीय टीम में शामिल ज्यादातर खिलाड़ी हैं। पूर्व कप्तान महेला जयवर्धने, जेहान मुबारक, अजंथा मेंडिस, रंगाना हेरात, फरवीज महरूफ, महेला उदावटे और माइकल वेंडार्ट जैसे खिलाड़ी वायाम्बा की टीम में शामिल हैं। यानी वायाम्बा की टीम को किसी भी तरह से कम करके नहीं आंका जा सकता है। स्पिनर की मददगार फिरोजशाह कोटला की पिच पर मेंडिस जैसे गेंदबाज कहर बरपा सकते हैं। तेज गेंदबाजों में महरूफ तो आईपीएल में दिल्ली डेयरडेविल्स के ही हिस्से रहे हैं तो उन्हें कोटला की पिच और यहां की परिस्थति के बारे में ढेर सारी जानकारी होगी।

उधर, वायाम्बा टीम टूर्नामेंट के अपने पहले मैच में जीत के साथ ही शुरुआत करना चाहेगी। टीम के लगभग सभी खिलाड़ियों को भारत में खेलने का अनुभव है और ये सभी दिल्ली के खिलाफ मैच में जीत के लिए कमर कस चुके होंगे। जाहिर तौर पर रविवार को होने वाले इस मैच में दर्शकों को ढेर सारा रोमांच और आक्रमकता देखने को मिलेगी। दूसरी तरफ गंभीर के लिए यह मैच बतौर कप्तान एक मुश्किल परीक्षा होगी।  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जीत से ही बनेगी दिल्ली की बात