अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईपीएल ने गृह मंत्रालय को सौंपा नया कार्यक्रम

इंडियन प्रीमियर लीग के आयोजकों ने मंगलवार को ट्वेंटी20 क्रिकेट टूर्नामेंट का नया कार्यक्रम केन्द्रीय गृह मंत्रालय को सौंप दिया जिसे मंत्रालय ने संबंधित रायों को उनकी राय के लिए भेज दिया है। मंत्रालय के प्रवक्ता ने मंगलवार को नई दिल्ली में यह जानकारी देते हुए बताया कि रायों की राय मिलने पर मंत्रालय टूर्नामेंट के बारे में कोई निर्णय लेगा। रायों की राय बुधवार तक मिल जाने की उम्मीद है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के सचिव एन श्रीनिवासन के नेतृत्व में तीन सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने सोमवार को आंतरिक सुरक्षा मामलों के विशेष सचिव रमन श्रीवास्तव से भंेट कर इस टूर्नामेंट से संबंधित मुद्दों पर बातचीत की थी। मंत्रालय ने उन्हें स्पष्ट तौर पर लोकसभा चुनावों के मद्देनजर अपनी चिंताआें और सुरक्षा बल मुहैया कराने के बारे में अपनी सीमाआें से अवगत कराया था। प्रतिनिधिमंडल से कहा गया था कि आईपीएल के आयोजक रायों से बात कर नया कार्यक्रम मंत्रालय को दें जिसके बाद मंत्रालय रायों के विचार जानकर कोई निर्णय लेगा। गत शुक्रवार को गृह मंत्री पी चिदम्बरम ने मंत्रालय तथा सुरक्षा एवं गुप्तचर एजेंसियों के शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक कर आईपीएल टूर्नामेंट के लिए सुरक्षा व्यवस्था के बारे में विचार विमर्श किया था। इसी दौरान उन्होंने संबंधित रायों के पुलिस प्रमुखों के साथ इस मामले पर वीडियों कांफ्रेंसिंग भी की थी। इस विचार विमर्श के बाद मंत्रालय ने आईपीएल आयोजकों से कहा था कि उनके द्वारा सात मार्च को सौंपे गए संशोधित कार्यक्रम के अनुरूप मैच करवाना मुमकिन नहीं है अत: वे रायों की राय को ध्यान में रखते हुए नया कार्यक्रम तैयार कर मंत्रालय को सौंपे। विभिन्न रायों का कहना था कि लोकसभा चुनावों के मद्देनजर वे आईपीएल के मौजूदा कार्यक्रम के तहत मैचों के लिए सुरक्षा उपलब्ध कराने में असमर्थ हैं। कुछ रायों ने इसके लिए केंद्रीय सुरक्षा बलों की मांग की थी जबकि केंद्र सरकार पहले ही कह चुकी है कि उसके लिए चुनावों के दौरान केंद्रीय बल उपलब्ध कराना मुश्किल है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आईपीएल ने गृह मंत्रालय को सौंपा नया कार्यक्रम