DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कैच टपकाना महंगा पड़ाः कुंबले

कैच टपकाना महंगा पड़ाः कुंबले

केप कोबराज के हाथों चैंपियंस लीग टवेंटी20 क्रिकेट टूर्नामेंट के पहले ही मैच में हार का सामना करने के बाद रायल चैलेंजर्स बेंगलुरु के कप्तान अनिल कुंबले ने स्वीकार किया कि कैच टपकाने का खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ा।

आईपीएल टू उपविजेता आरसीबी ने कई कैच छोड़े और खुद कुंबले ने 18वें ओवर में अपनी ही गेंद पर जेपी डुमिनी का कैच टपकाया जिसने नाबाद 99 रन बनाकर केप कोबराज को जीत दिलाई। कुंबले ने कहा कि खराब कैचिंग चिंता का विषय है, लेकिन डुमिनी को पूरा श्रेय जाता है जिसने उम्दा बल्लेबाजी की।

उन्होंने कहा कि गेंद बल्ले पर तेजी से आ रही थी। हमें लगा कि पिच आखिरी ओवरों में धीमी होगी और गेंद को स्पिन मिलेगी लेकिन ऐसा नहीं हुआ। आखिरी ओवर विनय कुमार को सौंपने के फैसले का भी यही कारण था लेकिन ऐसा हुआ नहीं।

उन्होंने हालांकि कहा कि अभी हमें काफी मैच खेलने हैं और हमें पता है कि आगे के मैचों में कहां सुधार करना होगा।

वहीं केप कोबराज के कप्तान एंड्रयू पटिक ने जीत का श्रेय डुमिनी को देते हुए कहा कि उसने रणनीति पर पूरी तरह अमल करते हुए लाजवाब पारी खेली।

पुटिक ने कहा कि हमें विश्वास था कि यदि कोई अच्छा बल्लेबाज एक छोर संभाल लेगा तो हम बड़े स्कोर भी हासिल कर लेंगे। डुमिनी ने ऐसा ही किया। ऐन मौके पर ग्रीम स्मिथ के नाम वापिस लेने पर कप्तान बनाये गए पुटिक ने कहा कि जीत के बावजूद फील्डिंग और खासकर कैचिंग में सुधार करना होगा।

भारत में पहली बार खेल रहे अधिकांश खिलाडि़यों को दबाव का सामना डटकर करने का मंत्र देने वाले पुटिक ने बताया कि हर्शल गिब्स और क्लाउडे हेंडरसन जैसे अनुभवी बल्लेबाजों की ड्रेसिंग रूम में मौजूदगी से खिलाडि़यों का मनोबल बढा़ है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कैच टपकाना महंगा पड़ाः कुंबले