DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आओ झांकें,बिग बॉस के घर में

आओ झांकें,बिग बॉस के घर में

अब रियलिटी शो ‘बिग बॉस 3’ बड़ा कमाल करने की तरफ बढ़ चला है। कंटेंट और लोकप्रियता के लिहाज से यह कलर्स के लिए ज्यादा असरदार होगा और  इससे टीआरपी की रेटिंग भी ज्यादा हासिल करने की उम्मीद है। हालांकि शो की शुरुआती रेटिंग (3 अंक) उतनी उत्साहवर्धक नहीं दिख रही है, लेकिन यह नहीं भूलना चाहिये कि अमिताभ का अपना जलवा दिखाना अभी बाकी है। 

शो के इस बार चर्चा में आने की पहली वजह है कि इसे भारतीय संस्कृति में ढालने की कवायद इस बार सलीके से की गई है। पहले ही दिन कार्यक्रम में राष्ट्रीय एकता और भाईचारे की भावना जगाने का ऐलान कर दिया गया। ‘देशद्रोही’ फिल्म के निर्देशक-हीरो कमाल आर. खान की मौजूदगी के अलावा राजू श्रीवास्तव के इस घर में आने का साफ मतलब है कि  संकीर्ण क्षेत्रवादी राजनीति के विरुद्ध यह रियलिटी शो झंडा बुलंद करने वाला है। खुद अमिताभ के सीने में भी संकीर्ण राजनीति की भुगती हुई आग मौजूद है। हिन्दू, पंजबी, मुसलमान, पारसी के अलावा राखी सावंत की मां जया सावंत की बिग बॉस के घर में मौजूदगी का भी ऐसा ही कुछ खास मकसद और मतलब साफ नजर आता है। भाईचारे के अलावा शो में भारतीय संस्कारों के अनुसार बर्ताव करने की नसीहत भी सबको बिग बॉस ने दे दी है।

पहले ही दिन जया सावंत ने लोगों में यह सच्चई जहिर कर दी कि राखी सावंत द्वारा अपने स्वयंवर में ही उपेक्षित किए जाने से वह कितनी आहत हैं। जया को घर की बड़ी मां के रूप में गृहप्रवेश में सबसे आगे रख कर उनके शो में आने के विरोध को भी पलीता लगा दिया गया है।


वो अलग बात है कि इससे खफा हुई राखी सावंत ने भी अपनी मां को बेटी से ज्यादा उसकी कमाई की भूखी बताने में कतई देरी नहीं की। उसने साफ कहा कि उसकी मां जया सावंत की नजर उनकी दौलत पर है। वह उसे सोने का अंडा देने वाली मुर्गी समझती है। राखी ने बिग बॉस में अपनी मां की मौजूदगी को अपने प्रति बिग बॉस के घर की छटपटाहट का ही अंजाम बताया।

शो में राजू श्रीवास्तव ने कॉमेडी के रंग भरने शुरू कर दिए हैं। पूनम ढिल्लन से कमाल खान की अनबन शुरू होने से वर्ग संघर्ष का मुद्दा भी शो की टीआरपी को गरमा सकता है। इसके अलावा शमिता शेट्टी और शर्लिन चोपड़ा की ग्लैमरस मौजूदगी से नए जमाने की लड़कियों और युवा दर्शकों को रिझने- लुभाने की कवायद भी शुरू हो गई है। दारा सिंह के बेटे विंदू सिंह, राजू और हिन्दी सीखने आई विदेशी मेहमान पारिवारिक माहौल बरकरार रखने की कोशिश कर सकते हैं। पिछले अनुभवों पर जएं तो रियलिटी शो पर नाज करने की बजय शर्मिदगी ज्यादा होती रही है, क्योंकि शो के दौरान बिना मतलब की लड़ाई और उसके बीच होने वाली गाली-गलौच से पारिवारिक माहौल में लोग इस शो से परे भागते दिखते हैं, जिससे शो की टीआरपी पर काफी असर पड़ता है। अमिताभ बच्चन कम से कम वसी बेहूदगियों की इजाजत देने की गलती तो नहीं करने वाले।

‘बिग बॉस तृतीय’ लेकर अमिताभ बच्चन मैदान में उतरे हैं तो इतना तय है कि यह नया भाग पिछले दोनों भागों पर भारी पड़ेगा। अमिताभ बच्चन के साथ जिन हस्तियों ने इस बार बिग बॉस के घर में प्रवेश किया है, उनका चयन कुछ खास तरह के संकेत देता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आओ झांकें,बिग बॉस के घर में