DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कभी-कभी मेरे दिल में ख्याल आता है..

कभी-कभी मेरे दिल में ख्याल आता है..

कुछ समय पहले यह अफवाह जोरों पर थी कि वॉल्ट डिज्नी की पीरियड फिल्म ‘मर्मयोगी’ के लिए अमिताभ बच्चन और रेखा को साइन किया जा रहा है। अब यह बात दीगर है कि खुद अमिताभ बच्चन ने ही इसे बकवास बताते हुए खारिज कर दिया, लेकिन इससे एक बात तो साफ होती ही है कि जिस जोड़ी ने 28 साल पहले फिल्मों में साथ आना छोड़ दिया हो, उस जोड़ी को लेकर फिल्म बनाने का क्रेज आज भी है।

यानी कि अमिताभ बच्चन और रेखा की जोड़ी बॉलीवुड में आज भी हॉट प्रॉपर्टी है। हिन्दी फिल्मों में सितारों की जोड़ियों का काफी महत्व है।  कभी राजकपूर और नरगिस की जोड़ी इतनी हॉट थी कि राजकपूर ने ‘आवारा’ के एक सीन को ही अपने बैनर का लोगो बना लिया। दिलीप कुमार-मधुबाला, देवानन्द-सुरैया, गुरुदत्त-वहीदा रहमान, धर्मेन्द्र-मीना कुमारी, धर्मेन्द्र-हेमा मालिनी  जैसी चर्चित रोमांस वाली जोड़ियां अपनी फिल्मों के लिए आसानी से दर्शक जोड़ लिया करती थीं। सत्तर के दशक में भी यह सिलसिला जारी रहा। षि कपूर ने बतौर नायक अपने करियर की शुरुआत ‘बॉबी’ से की थी। ‘बॉबी’ की जबर्दस्त सफलता के बाद ऋषि-डिम्पल की जोड़ी का क्रेज बना, पर डिम्पल ने तत्कालीन सुपर स्टार राजेश खन्ना से विवाह कर फिल्मों से उस वक्त किनारा कर लिया था।  इस जोड़ी के टूटने के साथ दर्शकों का दिल भी टूटा। फिल्म ‘सागर’ में फिर से षि कपूर के साथ डिम्पल की जोड़ी बनाती दिखी। फिल्म हिट हुई, पर यही जोड़ी जब चौदह साल बाद फिल्म ‘प्यार में ट्विस्ट’ में दिखाई दी तो लोगों ने इसे नकार दिया। इससे क्या समझ जए। अगर अमिताभ और रेखा फिर से किसी फिल्म में साथ आएंगे तो क्या दर्शक उन्हें भी नकार देंगे। सनी देओल-डिम्पल कापड़िया, गोविन्दा-करिश्मा कपूर, माधुरी दीक्षित-अनिल कपूर, अक्षय कुमार-शिल्पा शेट्टी, शाहरुख खान-जूही चावला, आमिर खान-रानी मुखर्जी, शाहरुख खान-काजोल और शाहिद कपूर-करीना कपूर जैसी जोड़ियां बनीं और टूटीं। इसके बावजूद जो क्रेज अमिताभ बच्चन और रेखा की जोड़ी का रहा, वैसा क्रेज किसी अन्य जोड़ी का नहीं बना। 

अमिताभ बच्चन और रेखा के रोमांस की शुरुआत ‘दो अनजाने’ फिल्म से हुई थी। अमिताभ और रेखा की जोड़ी ‘खून पसीना’, ‘गंगा की सौगंध’, ‘सुहाग’, ‘मुकद्दर का सिकन्दर’, ‘राम बलराम’ और ‘मिस्टर नटवरलाल’ जैसी फिल्मों में भी दिखी। इस जोड़ी के प्यार की कशिश ही थी कि इनकी सभी फिल्में सुपर हिट साबित हुईं। ‘जंजीर’ की सफलता के बाद 1973 में अमिताभ बच्चन ने जया भादुड़ी से शादी कर ली थी, जबकि ‘दो अनजाने’ 1976 में रिलीज हुई थी, इसीलिए विवाहित अमिताभ बच्चन के रेखा से रोमांस के चर्चे फिल्म पत्रिकाओं की हॉट न्यूज बनते रहे। कहा जता है कि इन दोनों ने अपने प्यार को पूरे पांच सालों तक छिपाए रखा, मगर ‘गंगा की सौगन्ध’ की शूटिंग के दौरान यूनिट के एक सदस्य द्वारा रेखा को बार-बार परेशान किए जने पर अमिताभ बच्चन उस पर बुरी तरह बरस पड़े थे। इसके साथ ही रेखा और अमिताभ बच्चन रोमांस मीडिया की नजरों में आ गया। 1981 में जब यश चोपड़ा ने रेखा-अमिताभ बच्चन-जया बच्चन को लेकर ‘सिलसिला’ बनायी तो इससे इस तिकड़ी की रीयल लाइफ कहानी को महसूस किया गया, लेकिन इस फिल्म के बाद रेखा-अमिताभ जोड़ी भी हमेशा के लिए टूट गयी। आज के दौर में समझने वाली बात यह है कि इस जोड़ी के रोमांस में वह गरिमा थी, जो आज के सितारों में देखने को नहीं मिलती।

दोनों ने कभी भी अपने रोमांस को अखबारों की खबर बनाने की कोशिश नहीं की, जैसे कि आजकल सलमान खान और कैटरीना कैफ कर रहे हैं। कैटरीना सलमान खान से अपने लगाव को छुपाती नहीं, अक्षय कुमार अपने रील लाइफ रोमांस को रियल लाइफ बताये जाने का खंडन नहीं करते। रीयल लाइफ में रेखा और अमिताभ बच्चन के अपने रोमांस की गरिमा बनाये रखने की कोशिश आज भी बरकरार है। रेखा ने कभी अमिताभ के साथ अपने सबंधों के टूटने को मुद्दा नहीं बनाया, जैसा कि करीना ने शाहिद कपूर के साथ किया। 54वें फिल्मफेयर पुरस्कार समारोह में रेखा बड़ी शालीनता से शाहरुख खान से मिलने के बाद अभिषेक बच्चन से मिलीं। उन्होंने ऐश को भी गले लगाया। उधर अमिताभ हैरानी से रेखा को देख रहे थे। रेखा के पास पहुंचने से पहले ही वह उठ कर बाहर चले गये।

प्यार को महसूस करने का अपना-अपना नजरिया होता है। कुछ समय पहले एक मैगजीन ने सबसे अच्छी जोड़ी के चुनाव के लिए पोल करवाया था। इस पोल में शाहरुख खान और काजोल की जोड़ी को सबसे अधिक रोमांटिक माना गया था। अमिताभ बच्चन-रेखा की जोड़ी दूसरे स्थान पर थी। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कभी-कभी मेरे दिल में ख्याल आता है..