DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फिर नदारद मिले 16 मास्साब

गढ़वाल मंडल के सातों जिलों के अध्यापकों के स्कूलों से नदारद रहने का सिससिला थम नहीं रहा है। मंडल में गुरुवार को विशेष अभियान के तहत स्कूलों मे विशेष टास्क फोर्स द्वारा मारे गये छापों में फिर से 16 मास्साहब गायब पाये गये। इन शिक्षकों के निलंबित करने की कार्रवाई की जा रही है।

विशेष टास्क फोर्स द्वारा मारे गये इन छापों में पौड़ी जिले में एक परिचारक सहित चार अध्यापक/अध्यापिकाएं, चमोली में सात अध्यापक/अध्यापिकाएं, टिहरी में चार व हरिद्वार में एक अध्यापक गैर हाजिर पाये गये। स्कूलों से गायब मिले इन अध्यापकों में सहायक व प्रधानाध्यापक शामिल हैं। पूरे मंडल में 807 स्कूलों में छापेमारी की गई, जिनमें तैनात 3451 अध्यापकों में से 2800 अध्यापक उपस्थित पाये गये 631 अध्यापक अवकाश पर पाये गये।16 अध्यापक स्कूलों से गायब मिले। इन स्कूलों में अध्ययनरत 71496 छात्रों में से मात्र 1652 छात्र ही अनुपस्थित पाये गये।

अपर शिक्षा निदेशक एनएस राणा ने बताया कि पिछले माह से स्कूलों मे मारे जा रहे छापों का असर दिखाई देने लगा है। अध्यापकों की विद्यालयों में उपस्थिति नियमित बनी हुयी है उन्होंने कहा कि, जो अध्यापक टास्क फोर्स के छापों में अनुपस्थित पाये गये हैं उनका निलंबन किया जा रहा है। 

अपर शिक्षा निदेशक ने बताया कि पौड़ी जिले मे गुरुवार को मारे गये छापों मे प्राथमिक विद्यालय कल्जीखाल की प्रधानाध्यापिका संगीता गौतम, प्रथमिक विद्यालय सेम के प्रधानाध्यापक ओम प्रकाश, प्राथमिक विद्यालय बगोली के सहायक अध्यापक चन्द्रपाल सिंह के साथ सीकू प्राथमिक विद्यालय के परिचारक प्रेम सिंह नेगी गैर हाजिर पाये गये।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फिर नदारद मिले 16 मास्साब