DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रतिनिधिमंडल तैयारियों से खुश, आयोजन समिति भी गदगद

प्रतिनिधिमंडल तैयारियों से खुश, आयोजन समिति भी गदगद

दिल्ली राष्ट्रमंडल खेलों की तैयारियों का जायजा लेने आये सत्तर देशों के सौ से ज्यादा प्रतिनिधि राजधानी में इन खेलों की तैयारियों से संतुष्ट दिखाई दिये और कुछ इन खेलों की कामयाबी को लेकर आश्वस्त दिखे जबकि कुछ ने समय पर काम पूरा हो पाने के बारे में आशंका भी व्यक्त की है।

माइक फेनेल की अगुवाई में राष्ट्रमंडल खेल महासंघ (सीजीएफ) के प्रतिनिधियों ने गुरुवार को यहां विभिन्न स्टेडियमों का दौरा किया। इसके बाद आयोजन समिति के महासचिव ललित भनोट ने बताया कि भारत दौरे पर आये ज्यादातर प्रतिनिधियों ने दिल्ली में अगले साल अक्तूबर में होने वाले इन खेलों के लिये तैयार किये जा रहे ढांचे को विश्व स्तर का बताया है। करीब दो दर्जन अधिकारियों का मानना है कि इतनी बडी व्यवस्था इससे पहले कभी कहीं और नहीं देखी।

भनोट ने कहा कि प्रतिनिधियों ने गुरुवार को सबसे पहले खेल गांव और उसके बाद त्यागराज स्टेडियम के अलावा नेहरू स्टेडियम, इंदिरा गांधी इंडोर, तैराकी, मुक्केबाजी के स्टेडियमों का दौरा किया। यह प्रतिनिधिमंडल शुक्रवार को तीन ग्रुपों में शूटिंग रेंज और विश्वविद्यालय आदि ग्रांउड का दौरा करेंगे।

भनोट ने बताया कि हमने अपने मेहमानों को अगले साल होने वाले खेलों के लिये मुहैया कराई जाने वाली सभी सुविधाओं की जानकारी दी है। सत्तर देशों के प्रतिनिधि सीजीएफ महासभा की 12 अक्तूबर को यहां होने वाली बैठक में भाग लेने के लिये बुधवार को राजधानी पहुंचे। सीजीएफ अध्यक्ष फेनेल एक माह पहले कह चुके है कि दिल्ली में इन खेलों की तैयारियों बहुत धीमी गति से चल रही हैं जो चिंता का विषय है।
   
फेनेल की शिकायत के बारे में पूछने पर भनोट ने कहा कि फेनेल बुधवार ही यहां आये है और उन्हें इन खेलों के आयोजन और तैयारियों के बारे में बारीकी से जानकारी दी जा रही है। वह सीजीएफ की महासभा की 12 अक्तूबर को होने वाली बैठक के बाद दिल्ली राष्ट्रमंडल खेलों के बारे में अपनी अधिकृत राय देंगे।
   
राष्ट्रमंडल खेल महासंघ की महासचिव लूसी मार्टिन ने राष्ट्रमंडल खेलों के लिये बनाये जा रहे खेल गांव की प्रगति पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि यहां पर रहने वाले खिलाड़ी बहुत रोमांचित महसूस करेंगे। इंग्लैंड के प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि खेल गांव बहुत शानदार है और हम अगले साल अक्तूबर में यहां आकर रहने के लिये उत्सुक हैं।

बांग्लादेश से आये प्रतिनिधि कर्नल (सेवानिवृत) एमवही उल्ला ने कहा कि खेल तैयारियां जोरशोर से की जा रही हैं। स्टेडियम का दौरा करने के बाद सभी सदस्यों निर्माण कार्य पर संतुष्टि व्यक्त की है । भनोट ने फिर दोहराया कि खेलों का सभी निर्माण कार्य समय पर पूरा हो जाएगा और खेलों से पहले स्टेडियमों में ट्रायल स्पर्धाए भी आयोजित की जाएगी ।
    
सुरक्षा व्यवस्था के बारे में पूछने पर भनोट ने कहा इस क्षेत्र में भी पूरी मुस्तैदी से काम चल रहा है । भनोट के साथ ही संवाददाता सम्मेलन में मौजूद मारीशस के प्रतिनिधि ने कहा कि दिल्ली के राष्ट्रमंडल खेल 'स्पेस और फिनिशिंग' के मामले में बीजिंग और मेलबर्न को भी पीछे छोड देंगे। आज हम दिल्ली में खुल कर घूमे है और जिस तरह से हमारा स्वागत सत्कार किया जा रहा है मुझे लगता है कि ये अब तक सबसे सफल खेल होंगे।

फिजी के विद्या लखन ने बताया कि मैं इन खेलों की तैयारियों से काफी प्रभावित हूं। हमारे देश के 130 खिलाड़ियों का दल इन खेलों में भाग लेगा जो 15 स्पर्धाओं में भाग लेगा। कैमरून के प्रतिनिधि डेविड ने कहा कि भारत आने से पहले हमसे पूछा जा रहा था कि क्या वहां सुरक्षा व्यवस्था ठीक होगी या इन खेलों की तैयारी समय हो जाएगी। आज पूरे दिन की यात्रा के बाद मै दावे से कह सकता हूं कि यहां सब कुछ विश्व स्तर का है और सुरक्षा की कोई समस्या नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:प्रतिनिधिमंडल तैयारियों से खुश, आयोजन समिति भी गदगद