DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रजोनवृत्ति के बाद मस्तिष्क सक्रिय कर सकता है टेस्टोस्टिरॉन स्प्रे

रजोनवृत्ति के बाद मस्तिष्क सक्रिय कर सकता है टेस्टोस्टिरॉन स्प्रे

रजोनवृत्ति के बाद महिलाओं को बार-बार भूलने की बीमारी से अब निजात मिल सकेगा। वैज्ञानिकों का दावा है कि जीवन के इस पड़ाव पर महिलाओं में सेक्स हारमोन टेस्टोस्टिरॉन के स्प्रे से मस्तिष्क की क्रियाविधि को बढ़ाया जा सकेगा।

रजोनवित्ति के बाद टेस्टोस्टिरॉन का उत्पादन कम हो जाता है। माना जाता है कि महिलाओं को रजोनवृत्ति के बाद बार-बार भूलने की बीमारी इसके कम स्तर के कारण होती है। मोनाश विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों के नेतृत्व में एक अंतरराष्ट्रीय दल ने बताया है कि टेस्टोस्टिरॉन उपचार महिलाओं में रजोनवित्ति के बाद मस्तिष्क की क्रियाविधि में सुधार ला सकता है।

वैज्ञानिकों ने इसके लिए 45 से 60 वर्ष के बीच की 10 महिलाओं पर छह महीने तक टेस्टोस्टिरॉन का रोज स्प्रे किया। इन महिलाओं में उपचार के बाद हुए परीक्षण में दृश्य और मौखिक स्मतियों में अन्य महिलाओं की तुलना में वद्धि दर्ज हुई। दल की प्रमुख प्रो सूजन डेविस ने कहा महिलाओं में उम्र के साथ टेस्टोस्टिरॉन का उत्पादन कम हो जाता है, जिससे रजोनवित्ति के बाद महिलाओं में इसका स्तर युवावस्था की तुलना में आधा रहा जाता है। उपचार से इसे ठीक किया जा सकता है।

वैज्ञानिकों के शोध इस माह सैन डियागो में नॉर्थ अमेरिकन मीनोपॉज सोसाइटी की बैठक में प्रस्तुत किए गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रजोनवृत्ति के बाद मस्तिष्क सक्रिय कर सकता है टेस्टोस्टिरॉन स्प्रे