DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मिलावटखोरों को जेल और जुर्माना

मिलावट का धंधा करने वालों पर उत्तर प्रदेश सरकार ने शिकंजा कसने की पूरी तैयारी कर ली है और अगले साल के पहले महीने यानि जनवरी से राज्य में खाद्य और औषधि कानून लागू कर दिया जाएगा। जिसमें मिलावटी वस्तुओं का कारोबार करने वालों पर जुर्माने के अलावा जेल का भी प्रावधान है।


आधिकारिक प्रवक्ता के अनुसार कानून में दवा विक्रेताओं पर ज्यादा नकेल कसी गई है। इस नए कानून के अनुसार दूध का बड़ा कारोबार करने वालों को पंजीकरण कराना होगा। दो लाख टन प्रति साल के कारोबारियों का पंजीकरण केन्द्र सरकार के पास तथा उससे कम का कारोबार करने वालों के लिए राज्य सरकार से पंजीकरण अनिवार्य किया गया है।  राज्य सरकार चाहती है कि दूध की गुणवत्ता बनी रहे और इस पर नियंत्रण रखा जा सके। मिलावटी दूध का व्यापार करने वालों पर भी कानून में कड़े प्रावधान किए गए हैं। इसके अलावा खाद्य पदार्थों के कारोबारियों पर भी नकेल कसने की व्यवस्था की गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मिलावटखोरों को जेल और जुर्माना