DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हास्य फिल्मे बनाना बहुत मुश्किल काम है: प्रियदर्शन

हास्य फिल्मे बनाना बहुत मुश्किल काम है: प्रियदर्शन

हास्य फिल्मों के जरिए अपनी अलग पहचान बनाने वाले राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता फिल्म निर्देशक प्रियदर्शन का मानना है कि हास्य फिल्में बनाना सबसे मुश्किल कामों में से एक है।

प्रियदर्शन ने यहां बताया कि हास्य फिल्में बनाना बहुत कठिन काम है और इसके जरिए लोगों को हंसाकर वह समाज सेवा कर रहे हैं। ग्यातव्य है कि हेरा.फेरी, मालामाल वीकली और भूल भूलैया जैसी सफल फिल्मों के निर्माता प्रियदर्शन की फिल्म (कांचीवरम) को वर्ष 2007 की सर्वश्रेष्ठ फिल्म के राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए चुना गया था।

उन्होंने इस पुरस्कार का श्रेय लेने से इंकार करते हुए इसे फिल्म से जुड़े सभी लोगों के प्रयासों का परिणाम बताया। अपनी आने वाली फिल्म (दे दना दन) को उन्होंने हास्य से भरपूर फिल्म बताया। इस फिल्म में हेरा फेरी में काम करने वाले अक्षय कुमार. सुनील शेट्टी और परेश रावल की तिकड़ी एक बार फिर साथ दिखाई देगी। यह फिल्म आगामी 27 नवम्बर को रिलीज होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हास्य फिल्मे बनाना बहुत मुश्किल काम है: प्रियदर्शन