DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्रुप-डी: दिल्ली डेयरडेविल्स, विक्टोरियन, वायंबा

ग्रुप-डी: दिल्ली डेयरडेविल्स, विक्टोरियन, वायंबा

दिल्ली डेयरडेविल्स (भारत)- आईपीएल-2 के सबसे बड़े दावेदार डेविल्स लीग में तीसरे पायदान पर रहे।

टीम- गौतम गंभीर (कप्तान), वीरेंद्र सहवाग, तिलकरत्ने दिलशान, दिनेश कार्तिक, मिथुन मनहास, डर्क नैनेस, मनोज तिवारी, रजत भाटिया, अविष्कार साल्वी, अमित मिश्रा, आशीष नेहरा, प्रदीप सांगवान, ओवेस शाह

मजबूती- सहवाग, गंभीर, दिलशान, कार्तिक जैसे विस्फोटक बल्लेबाजों की मौजूदगी। नेहरा, नैनेस, सांगवान, विटोरी, मिश्रा जैसे गेंदबाजों का मेल। टीम के पास इतने शानदार खिलाड़ी हैं कि सभी को एक साथ मैदान पर उतराना मुश्किल। डेयरडेविल्स की सबसे बड़ी ताकत इसकी बेंच स्ट्रेंथ है।

कमजोरी- टी20 के मिजाज के लायक शायद ही किसी दूसरी टीम के पास ऐसे खिलाड़ी हों, लेकिन अहम मौकों पर टीम के फेल होने की संभावनाएं बनी रहती है। आईपीएल-2 में भी डेविल्स पूरे टूर्नामेंट में टॉप पर रहने के बावजूद सेमीफाइनल जैसे अहम मौके पर हार गए थे।

...........................................................................................................................................................................................

 

विक्टोरियन बुशरेंजर्स (ऑस्ट्रेलिया)- केएफसी टी20 बिग बैश के लगातार तीन बार के चैंपियन और चैंपियंस लीग के दावेदारों में से एक।

टीम- कैमरुन व्हाइट (कप्तान), ब्रैड होज, डेविड हसी, पीटर सिडल, आरेन फिंच, जॉन हेस्टिंग्स, जॉन हॉलैंड, एंड्रयू मैक्डॉनाल्ड, क्लिंट मैक्के, रॉब क्वीनी, मैथ्यू वेड, एडेन ब्लिजर्ड, शेन हॉरवुड, ब्रायस मैक्गेन, जेम्स पेटिसन
कोच- ग्रेगरी शिपर्ड

मजबूती- ऑस्ट्रेलियाई टीम की तरह विक्टोरियन को भी जीत की आदत है। 2005 से 2007 तक लगातार जीतकर ये टीम केएफसी टी20 बिग बैश टूर्नामेंट की हैट्रिक लगा चुकी है। वीबी में कप्तान व्हाइट (46 मैच) और डेविड हसी (78 मैच) के रूप में टी20 के लिए काबिल बल्लेबाज मौजूद हैं। साथ ही होज (68 मैच) और सिडल जैसे अंतरराष्ट्रीय अनुभव प्राप्त खिलाड़ी टीम के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं।

कमजोरी- दुनिया के बेस्ट क्रिकेट क्लब में शुमार विक्टोरियन हालांकि चैंपियंस लीग की मजबूत टीमों में से एक है, लेकिन टीम में ज्यादातर खिलाड़ी ऐसे हैं जिन्होंने ना तो आईपीएल खेला है और ना ही भारतीय पिचों पर।

............................................................................................................................................................................................

 

वायंबा इलेवंस (श्रीलंका)- लंकाई सितारों से सजी वायंबा है इंटर-प्रोवेंशियल टी20 टूर्नामेंट-2009 की चैंपियन।

टीम- जेहान मुबारक (कप्तान), महेला जयवर्धने, फरवेज महरुफ, अजंता मेंडिस, माइकल वेंडोर्ट समीरा डी जोयसा, जीवंथा कुलातुंगा, थिसारा परेरा, महेला उदावते, चानका वेलेगेदरा, इशारा अमरसिंघे, रंगना हेराथ, शलिका करुनानायके, कौशल लोकुरच्चि, इसुरु उडाना
कोच- मनोज एबेविक्रमा

मजबूती- टीम में जयवर्धने, मेंडिस, महरुफ जैसे तीन ऐसे खिलाड़ियों की मौजूदगी है, जिन्हें आईपीएल खेलने का भी अच्छा-खासा अनुभव हासिल है। बल्लेबाजी में 53 टी20 मैच खेल चुके जयवर्धने टीम की अगुआई करेंगे जबकि गेंदबाजी में 29 मैचों में 43 विकेट ले चुके मेंडिस बॉलिंग डिपार्टमेंट को संभालेंगे।

कमजोरी- गिने-चुने खिलाड़ियों को छोड़कर बाकी खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से नावाकिफ ही हैं। वायंबा को पहले अपने ग्रुप से ही पार पाना होगा, जहां दिल्ली डेयरडेविल्स और विक्टोरियन जैसी दो मजबूत टीमों से उसकी टक्कर होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ग्रुप-डी: दिल्ली डेयरडेविल्स, विक्टोरियन, वायंबा