DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

साष्य का फैसला कल

बिहार राज्य पथ परिवहन निगम से बंटवारे के बाद मिले कर्मचारियों, पदाधिकारियों और परिसंपत्ति पर 1मार्च को फैसला होने की संभावना है। मुख्य सचिव एके बसु और परिवहन सचिव सुखदेव सिंह के बीच गुरुवार को महत्वपूर्ण बैठक होगी। निगम कर्मियों और पदाधिकारियों के बार में मुख्यत: फैसला हो चुका है। इसके तहत जो कर्मी और पदाधिकारी 50 साल से कम उम्र के हैं, उन्हें सरकार विभिन्न निगमों में समायोजित करेगी। जो 50 या उससे अधिक आयु के हैं, उन्हें आवश्यक सेवानिवृत्ति दी जायेगी। इनके बकाये का एकमुश्त भुगतान भी किया जायेगा।ड्ढr इसमें पांच हजार अस्थायी कर्मियों का भविष्य अंधकार में फंस गया है। राज्य सरकार ने इन लोगों के बार में कोई निर्णय नहीं लिया है। रांची, जमशेदपुर, दुमका और धनबाद राज्य पथ परिवहन परिमंडल में आवश्यकता के अनुरूप अस्थायी कर्मियों की सेवा ली जा रही थी। अब ऐसे कर्मी अपने हालात से परशान हैं। इन चारों पथ प्रमंडल के पास जमीन है। इस जमीन की उपयोगिता पर भी 1ी बैठक में ही फैसला होगा। बंटवार में मिली बसों का राज्य सरकार क्या करगी, इस पर भी निर्णय होना है। निगम बंटवार के बाद 227 कर्मचारी और पदाधिकारी एक मार्च से झारखंड आ गये हैं। इन्होंने रांची प्रमंडल के मुख्यालय में योगदान दिया है। बंटवार की शर्तो के अनुसार जो जहां जैसा है, के तहत लगभग 00 और कर्मचारी झारखंड क्षेत्र में हैं। इनके बार में भी फैसला होगा। अमूमन अधिकांश कर्मी 50 साल या उससे अधिक उम्र के हैं। ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: साष्य का फैसला कल