DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाक अलकायदा है अब अमेरिका का निशाना

पाक अलकायदा है अब अमेरिका का निशाना

अमेरिका ने आतंकवाद के खिलाफ जारी अपने संघर्ष की रणनीति को एक बार फिर से बदलते हुए अफगानिस्तान के तालिबान आतंकवादियों की बजाय पाकिस्तान में सक्रिय अलकायदा को निशाना बनाने का फैसला किया है।

अमेरिकी अखबार न्यूयार्क टाइम्स के मुताबिक राष्ट्रपति बराक ओबामा की राष्ट्रीय सुरक्षा टीम ने उन्हें सलाह दी है कि अफगानिस्तान में सक्रिय तालिबान आतंकवादी अमेरिका के लिए सीधे तौर पर कोई खतरा नहीं है। इसलिए अमेरिका को पाकिस्तान में सक्रिय अलकायदा आतंकवादियों को निशाना बनाना होगा।

ओबामा ने अपने सलाहकारों के साथ तीन घंटे तक चली बैठक में पाकिस्तान के मसले पर चर्चा की।
इस बीच अमेरिकी राष्ट्रपति कार्यालय व्हाइट हाउस ने कहा कि अफगानिस्तान में अतिरिक्त सैनिक भेजने पर अभी कोई फैसला नहीं हुआ है। व्हाइट हाउस ने बताया कि सुरक्षा सलाहकारों ने ओबामा को एक नई रणनीति पेश की है, जिसके तहत अफगानिस्तान में अतिरिक्त सैनिक भेजने की जरुरत नहीं पड़ेगी। हालांकि अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि ओबामा प्रशासन के प्रत्येक मंत्री ने इस पर अपनी पूरी सहमति दी या नहीं।

ज्ञातव्य है कि उप राष्ट्रपति जोसेफ बिडेन कई महीनों से अफगानिस्तान में अतिरिक्त अमेरिकी सैनिक भेजे जाने का विरोध कर रहे हैं। उनका कहना है कि अमेरिका को अफगानिस्तान की बजाय पाकिस्तान पर अपना ध्यान केंद्रित करना चाहिए। जबकि विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन और रक्षा मंत्री रॉबर्ट गेट्स ने चेतावनी दी है कि यदि तालिबान और अलकायदा को अलग-अलग करके देखा गया तो इसके अमेरिका को गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। अफगानिस्तान में यदि तालिबान फिर से सत्ता में आता है तो वह फिर से आतंकवादियों के लिए सुरक्षित ठिकाना बन जाएगा। उन्होंने कहा कि अलकायदा और तालिबान एक दूसरे से जुडे़ हुए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पाक अलकायदा है अब अमेरिका का निशाना