DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इंडियन ऑयल की पाइप लाइन में छेद कर 36 लाख कापेट्रोल चुराया

इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन-आईओसी की पाइप लाइन में लीकेज कर करीब 36 लाख रुपये कीमत के पेट्रोल की हेरोफेरी करने का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। मामला पश्चिमी दिल्ली के मुंडका इलाके का है। इंडियन ऑयल की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी पेट्रोल चोर को गिरफ्तार कर लिया है। इस संबंध में उसके खिलाफ मामला भी दर्ज कर लिया गया है।

पकड़ा गया आरोपी बीर सिंह पहले ऑयल टेंकर का ही व्यवसाय करता था। कारोबार घाटा होने के बाद उसने खुद को उबारने के लिए उसने मुंडका इलाके में उत्तर प्रदेश से आ रही इंडियन ऑयल की पाइपलाइन से पेट्रोल चुराने की योजना बनाई। उसने उत्तर प्रदेश स्थित मथुरा रिफाइनरी से बिजवासन के बीच बिछी करीब 157 किलोमीटर लंबी पाइप लाइन में होल बनाया।

14 इंच डायमीटर वाले इस होल में वॉल्व और क्लैंप के जरिये पाइप से वह पेट्रोल निकालने लगा। अनुमान के मुताबिक उसने अबतक करीब 80 हजार लीटर पेट्रोल पर हाथ साफ किया। उधर आईओसी की तकनीकी टीम क ो यह शक हो रहा था कि पाइप में कहीं लीकेज हो गया है। आईओसी के चीफ तकनीकी अधिकारी आर.एस. चौहान का कहना है कि लीकेज का पता लगाने के लिए भाभा एटोमिक रिसर्च सेंटर की टीम क ो लगाया
गया था।

इस टीम ने अत्याधुनिक उपकरणों के जरिये कुछ दिनों की जांच में यह पता लगा लिया कि मुंडका औद्योगिक क्षेत्र में पेट्रोल का लीकेज हो रहा है। हालांकि सही लोकेशन का फिर भी पता नहीं चल सका कि आखिरकार किस प्वाइंट पर लीकेज है। चौहान के मुताबिक उनकी विजिलेंस टीम भी जांच में जुटी हुई थी। इसके बाद आईओसी की तरफ से इस संबंध में पुलिस से शिकायत की गई।

काफी मशक्कत के बाद जांच टीम क ो पता चला कि मिट्टी के नीचे दबे पाइप लाइन के भीतर से पेट्रोल वॉल्व व क्लैंप लगाकर निकाला जा रहा है। इसके बाद मामले का खुलासा हुआ और आरोपी को गिरफ्तार किया गया। पूछताछ में आरोपी ने पुलिस क ो कुछ अन्य नामों का खुलासा किया है, उनके बारे में बारीकी से जांच की जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पेट्रोल की हेराफेरी, एक गिरफ्तार