DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

करण जौहर की याचिका पर जल्दी सुनवाई से इनकार

करण जौहर की याचिका पर जल्दी सुनवाई से इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को जानेमाने फिल्मकार करण जौहर की उस याचिका पर जल्दी सुनवाई करने से इनकार कर दिया, जिसमें उन्होंने कथित तौर पर राष्ट्र गान का अपमान करने के मामले में अपने खिलाफ दर्ज एक आपराधिक मामले को रद्द करने की मांग की थी।
   
न्यायमूर्ति बीएन अग्रवाल और न्यायमूर्ति जीएस सिंघवी की पीठ ने जौहर के अनुरोध को खारिज करते हुए उनसे कहा कि उन्हें लखनऊ में निचली अदालत के न्यायाधीश के समक्ष प्रस्तुत होना होगा, जिन्होंने फिल्म कभी खुशी कभी गम से संबंधित इस मामले में समन जारी किये थे। शीर्ष न्यायालय ने कहा कि मामले पर अधिसूचित तिथि को सुनवाई होगी।   

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने मामले को निरस्त करने की जौहर की याचिका को खारिज कर दिया था, जिसके बाद उन्होंने शीर्ष न्यायालय में मामले में जल्दी सुनवाई की मांग करते हुए गुहार लगायी।
   
पीठ ने कहा कि आप निचली अदालत के समक्ष पेश नहीं हो रहे हैं। यह मामला 2002 से संबंधित है। आपराधिक मामलों में यदि समन जारी किये जाते हैं तो आपको पेश होना होगा। मजिस्ट्रेट ही निजी तौर पर पेशी से छूट दे सकते हैं।
   
पीठ ने एक वरिष्ठ वकील की दलील के बाद यह बात कही, जिन्होंने कहा था कि निर्माता निर्देशक जौहर को कम से कम निजी तौर पर प्रस्तुत होने से छूट दी जा सकती है। जौहर समन जारी होने के बावजूद स्वास्थ्य और सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए अदालत में पेश नहीं हुए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:करण जौहर की याचिका पर जल्दी सुनवाई से इनकार