DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरकारें आर्थिक प्रोत्साहन जारी रखें: प्रणव

सरकारें आर्थिक प्रोत्साहन जारी रखें: प्रणव

भारत ने मंगलवार को अंतरराष्ट्रीय समुदाय से कहा कि आर्थिक प्रोत्साहनों को जारी रखा जाए क्योंकि आर्थिक गति सुधारने में अभी लंबा समय लगेगा। इसके अलावा भारत ने आईएमएफ व विश्व बैंक में सुधारों का आह्वान किया है ताकि आर्थिक नीतियां बनाने की प्रक्रिया में उदीमयान अर्थव्यवस्थाओं को बड़ी भूमिका मिले।

वित्तमंत्री प्रणव मुखर्जी ने आईएमएफ, विश्व बैंक की सालाना बैठक में कहा कि ऐसा लगता है कि सुधार अस्थिर तथा लंबी अवधि का होगा क्योंकि रोजगार उतनी तेजी से नहीं बढ़ रहे हैं। सुधार को बढाने के लिए नीतिगत प्रोत्साहन बहुत महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि मुद्रास्फीति के जोखिम और राजकोषीय स्थिरता के लिए खतरे को देखते हुए प्रोत्साहन पैकेज को संतुलित रखने की अल्पकालिक चुनौती जरूर है। उनके अनुसार निकासी नीतियों का समय और परिणाम महत्वपूर्ण हो गए हैं।

आईएमएफ तथा विश्व बैंक की दो दिवसीय बैठक मंगलवार को तुर्की की राजधानी में शुरू हुई। यह बैठक संकट से निकलने तथा वैश्विक वित्तीय प्रणाली को अधिक मजबूत बनाने पर विचार करेगी। मुखर्जी ने कहा कि आईएमएफ तथा विश्व बैंक मौजूदा आर्थिक संकट से बिना बदले नहीं निकल सकते और भविष्य में वैश्विक आर्थिक विकास के चालक के रूप में अग्रणी देशों की भूमिका को स्वीकार करना होगा। उन्होंने कहा कि इच्छित बदलावों का विरोध इन संस्थानों की वैधता, साख तथा प्रभाव को ही प्रभावित करेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सरकारें आर्थिक प्रोत्साहन जारी रखें: प्रणव