DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अमेरिकी चीयरगर्ल्स है दाल, भात व लस्सी की दीवानी

अमेरिकी चीयरगर्ल्स है दाल, भात व लस्सी की दीवानी

अपनी मदमस्त अदाओं और कलाबाजियों से चैंपियंस लीग के दौरान भारतीयों को दीवाना बनाने के लिए पूरी तरह तैयार अमेरिकी चीयरलीडर्स व्हाइट मिसचीफ गाल्स न सिर्फ भारत बल्कि यहां के भोजन विशेषकर दाल, भात और लस्सी की दीवानी भी बन गई हैं।

दिल्ली, हैदराबाद और बेंगलूर में आठ अक्तूबर से शुरू होने वाले टवेंटी 20 टूर्नामेंट के लिए यहां पहुंची 14 चीयरलीडर्स की अगुआई कर रहीं क्रिस्टीना ने कहा कि मेरा भारत का यह दूसरा दौरा है। इससे पहले मैं आईपीएल वन के दौरान यहां आई थी और इस दौरान मुझे इस देश को समझने का जितना भी मौका मिला, उससे यहां के बारे में मेरी सोच में बहुत बदलाव आया। यह वास्तव में बहुत प्यारा देश है।

इंडियन प्रीमियर लीग के दौरान जब अमेरिकी चीयरलीडर्स भारत आई थी तो उन्हें विरोध का सामना भी करना पड़ा था इसलिए वे केवल एक सप्ताह ही यहां बिता पाई थीं। उन्होंने इस साल दक्षिण अफ्रीका में हुए दूसरे आईपीएल में भी भाग लिया था। क्रिस्टीना ने कहा कि हम पिछली बार एक सप्ताह ही यहां रही लेकिन इस बार हमें भारत को समझने का ज्यादा मौका मिलेगा। मैंने पिछली बार यहां करी, चिकन, दाल-चावल और लस्सी का स्वाद लिया था और इस बार यहां पहुंचने पर हमने अपने भोजन में विशेष रूप से इन्हें शामिल कराया।

क्रिस्टीना का भी मानना है कि भारत और भारतीयों से जुड़ने के लिए यहां की संस्कृति को समझना जरूरी है। उन्होंने कहा कि हमने यहां आने से पहले भारत के बारे में काफी अध्ययन किया। हम सभी बुधवार को ताजमहल देखने जा रही हैं और मुझे उम्मीद है कि वहां हमें कुछ नया सीखने को मिलेगा।

आईपीएल में ये सभी चीयरलीडर्स रायल चैलेंजर्स बेंगलूर से जुड़ी थी लेकिन चैंपियंस लीग में वे सभी टीमों के चौके, छक्कों, विकेट और जीत पर अपना जलवा बिखेंरेगी। इनमें से सात चीयरलीडर्स दिल्ली में रहेंगी जबकि अन्य सात हैदराबाद और बेंगलूर जाएंगी। इन्हें दुनिया की सबसे बड़ी चीयर एवं डांस कंपनी वर्सिटी स्प्रिट कारपोरेशन ने तैयार किया है।

यूनाईटेड स्प्रिट के डिप्टी चेयरमैन अशोक कपूर ने बताया कि चीयरलीडर्स के इस ग्रुप को विशेष रूप से भारत और यहां के लोगों को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है और उन्हें विश्वास है कि पिछली बार की तरह इस बार कोई विरोध नहीं होगा।
 उन्होंने कहा कि इन चीयरलीडर्स का चयन अमेरिका में होने वाली प्रतियोगिताओं के जरिए किया गया है और मुझे विश्वास है कि इनकी उपस्थिति टूर्नामेंट को और रोमांचक बनाएगी।

कपूर से जब भारतीय चीयरलीडर्स को नहीं चुनने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि हमारी प्राथमिकता में भारतीय चीयरलीडर्स ही थी लेकिन अभी वे विश्व स्तर की नहीं हैं लेकिन अगले साल हमारे साथ भारत की भी चीयरलीडर्स होंगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अमेरिकी चीयरगर्ल्स है दाल, भात व लस्सी की दीवानी