DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेना का साइकिलिंग व राफ्टिंग दल रवाना

आईबीएक्स ब्रिगेड इंजीनियरिंग फील्ड कंपनी के साइकिलिंग और राफ्टिंग एक्सपीडिशन को रवाना करते हुए ब्रिगेडियर दीपक बडोला ने कहा कि जवानों में साहसिक खेलों और चुनौतियों के लिए हमेशा तैयार रहना चाहिए।
एक्सपीडिशन को फ्लैग ऑफ करते हुए उन्होंने कहा कि सेना के जवान सीमा पर देश की रक्षा के लिए तैनात रहते हैं, अब साइकिलिंग और राफ्टिंग के जरिये भारतीय सेना के साहस और सौर्य का प्रदर्शन करेगा।

उन्होंने कहा कि सेना के ये जवान विभिन्न शिक्षण संस्थानों में भारतीय युवाओं को फौज में भर्ती होने के लिए भी प्रेरित करेंगे। यह दल जोशीमठ, तपोवन, मलारी, गमशाली जैसे दुर्गम स्थानों पर अपने साहसिक उत्साह का प्रदर्शन करने के बाद 78 किलोमीटर के गमशाली थारा उडियार आदि विभिन्न चुनौतीपूर्ण स्थानों पर ट्रैकिंग कर चुका है।

अब 236 किलोमीटर की साइक्लिंग चुनौती को भी हिमालय के ऊंचे शिखर से शुरूआत करते हुए देवप्रयाग तक पहुंचेगा। इस अवसर पर लेफ्टिनेंट कर्नल संजीव सहारन, कर्नल जेएनएस बिष्ट, केप्टन प्रवण मिश्र समेत कई सेना के अफसर तथा जवान मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सेना का साइकिलिंग व राफ्टिंग दल रवाना