DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हाईटेंशन तार गिरने से परिवार के छह लोग झुलसे

पसौंडा स्थित अलीनगर गांव में मंगलवार सुबह बिजली की हाईटेंशन लाइन के टूटकर एक मकान पर गिर जाने से एक ही परिवार के छह लोग गंभीर रूप से झुलस गए। बारिश के पानी में मकान के भीगे होने के कारण घर में मौजूद लोगों को बचाव का मौका भी नहीं मिल सका। सुबह लगभग सवा छह बजे हुए हादसे के वक्त घर के सदस्य अपनी बेटी की शादी के बाद आराम फरमा रहे थे। सभी घायलों को नजदीक के प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया है।


घायलों में एक गर्भवती महिला भी शामिल है। इनमें से दो लोग साठ फीसदी और बाकी तीस प्रतिशत झुलसे बताए गए हैं। लोग गुस्से में हैं। घटना के बाद किसी प्रकार की अप्रिय घटना को रोकने के लिए पुलिस बल भी तैनात कर दिया गया है। देर शाम तक टूटी हुई लाइन की मरम्मत के चलते विद्युत आपूर्ति बाधित रही। पीड़ित पक्ष की ओर से बिजली विभाग के अधिकारियों के खिलाफ पुलिस में शिकायत भी की गई है। हालांकि मामला दर्ज नहीं हो सका है।


पुर्णिया जिला बिहार की रहने वाला दाऊद अपनी पत्नी गुलसन व परिवार के साथ पसौंडा स्थित अलीनगर में किराए पर रहता है। सोमवार को बेटी संजीदा की शादी वहीं रहने वाले नसीम से हुई थी। पूरा परिवार शादी के काम से थका हारा आराम फरमा रहा था। बताया जाता है कि सुबह करीब छह बजे मकान के ऊपर से जा रहा हाईटेंशन तार अचानक टूट कर गिर गया। बारिश के कारण मकान में सीलन होने से पूरे मकान में करंट दौड़ गया। जिससे लोग झुलस कर बेहोश हो गए। इस घटना से पूरे इलाके हड़कंप मच गया। नागरिकों ने पावर कारपोरेशन को सूचना देकर किसी तरह बिजली कटवाई। घायलों को राजेन्द्र नगर स्थित राजेंद्र नर्सिग मैटरनिटी होम में भर्ती कराया गया। घायलों में गुलशन (41) बेटी संजिदा (16) सायरा (17) प्रवीना, (19) बेटा नसीम (16) और रिश्तेदारों में गुड्डू (9) और सानिया (5) हैं। गुलशन की बेटी प्रवीना गर्भवती है। डाक्टरों के मुताबिक गुलशन और उसकी बेटी प्रवीना साठ फीसदी झुलस गई हैं। इस घटना से पूरे इलाके में दहशत है। लोगों का कहना है कि जजर्र हो चुके तारों को लेकर पावर कारपोरेशन से कई बार शिकायत की गई। लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। बड़े हादसों के बाद भी प्रशासन सबक नहीं लेता।

पहले भी हो चुके हैं हादसे
वर्ष 2008 में हाईटेंशन तार टूटने हुए हादसे
-मार्च हापुड़ क्षेत्र के एक गांव में तार टूटने से कई बीघा फसल जली
-अप्रैल खोड़ा में जागरण देखते हुए एक ही परिवार में पांच लोग झुलसे, लोगों ने काटा हंगामा
-मई विजयनगर में दो बच्चाे लंगड़ डालते हुए बिजली तार से झुलसे एक की मौत
-जून खोड़ा के राजीव नगर में कपड़े सुखाती महिला हाईटेंशन तार की चपेट में आई, उपचार के दौरान मौत
-जुलाई खोड़ा शानि बजार वाली गली में दो लोग बिजली की तार टूटने से झुलसे

क्या कहते हैं अधिकारी
एक्सईएन (ट्रांसमिशन) एम.एन.श्रीवास्तव का कहना है कि बिजली की लाइन के नीचे अमूमन तो मकान बना ही नही सकते हैं। यदि बन गया है तो बस ग्राउड फ्लोर तक ही सुरक्षित हैं। इसके ऊपर जरा भी बढ़ा तो लाइनों की जद में आ जाता है। जिससे किसी भी समय हादसे का शिकार हो सकते हैं। बिजली विभाग ने प्रशासन को इस संबंध में लिस्ट दी है,लेकिन अब तक कार्रवाई नहीं हुई है। उधर एडीएम सिटी एस.के.श्रीवास्तव का कहना है कि इसमें प्रशासन किसी प्रकार की कोताही नहीं बरतता है,बल्कि इसके लिए जीडीए ही जिम्मेवार है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हाईटेंशन तार गिरने से परिवार के छह लोग झुलसे