DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विवादों के साए में सीनियर महिला मुक्केबाजी चैंपियनशिप

भारतीय मुक्केबाजी संघ द्वारा जमशेदपुर में आयोजित 10 वीं राष्ट्रीय सीनियर महिला मुक्केबाजी चैंपियनशिप बिना मौसम की बरसात की बाधा झेलने के बाद अब विवादों के साए में घिरती नजर आ रही है।

जेआरडी टाटा स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स में दो अक्टूबर से आयोजित प्रतियोगिता के विधिवत शुरू होने से पहले ही स्टार मुक्केबाज तथा चार बार की विश्व चैंपियन एम सी मैरीकोम और कुछ अन्य दिग्गजों ने ठहरने के कथित घटिया इंतजाम के प्रति नाराजगी जता कर आयोजकों को सकते में डाल दिया था। यह मामला पूरी तरह ठंडा भी नहीं हुआ था कि 54 किलो भार वर्ग में स्वर्ण पदक की मजबूत दावेदार और 11 बार की राष्ट्रीय चैंपियन एल सरिता देवी की कल हुई नजदीकी हार ने भी खासा विवाद पैदा कर दिया।

रेलवे की एक मुक्केबाज के हाथों 4-2 से हारने वाली सरिता ने जजों पर पक्षपात करने का आरोप लगा कर सनसनी मचा दी।

उसकी टीम आल इंडिया पुलिस के कोच सत्यकाम शर्मा ने लिखित विरोध दर्ज कराते हुए आरोप लगाया कि सरिता को ईमानदारी से अंक नहीं दिए गए। आयोजन से जुड़े एक अधिकारी ने स्वीकार किया कि आगरा में आयोजित पिछली सीनियर महिला चैंपियनशिप में सर्वश्रेष्ठ मुक्केबाज का खिताब जीतने वाली सरिता के इन आरोपों से मौजूदा आयोजन की प्रतिष्ठा को धक्का जरूर लगा है।

बेमौसम बरसात के कारण पहले दो खुले रिंग में प्रस्तावित इस प्रतियोगिता को आनन -फानन में जेआरडी स्टेडियम की पहली मंजिल पर बने एक अस्थाई रिंग में आयोजित किया जा रहा है। ग्यारह भार वर्ग वाली इस प्रतियोगिता के फाइनल मुकाबले सात अक्टूबर को होंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विवादों के साए में सीनियर महिला मुक्केबाजी चैंपियनशिप