DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चले हैं तमीज़ सिखाने

नेता जी भरे बैठे थे : ‘मंत्री जी कहीं जाम-वाम में फंस गए होंगे बस, कह दिया कि दिल्लीवालों को तमीज़ ही नहीं है। यह शहंशाहों और शायरों का शहर रहा है। हमने दुनिया को उठने-बैठने, खाने-पीने और बोलने का तरीका सिखाया है। आज मंत्री जी की निगाह में हम गंवार हो गए!’

मैंने कहा : ‘यह तो आप भी जानते हैं कि दिल्ली आज वह दिल्ली नहीं है, जब लोगों में सलीका और शऊर हुआ करता था। घर हो या बाहर, तब लोग अदब से पेश आते थे। आप देख ही रहे हैं कि आज शहर की हालत क्या है। सड़कों पर गाड़ी यों दौड़ाते हैं, जैसे पुलिस उनके पीछे लगी हो। और फिर, कहीं भी थूक देते हैं, कहीं भी कूड़ा फेंक देते हैं। किसी भी दीवार को देखकर उन्हें सू-सू आ जाता है।’

नेता जी बोले : ‘तो अब मंत्री जी हमें सिखाएंगे कि क्या करना चाहिए और क्या नहीं। वह शायद भूल गए कि हम स्वतंत्र देश के नागरिक हैं। देश अपना है, शहर अपना है और सड़कें भी अपनी हैं। हमें पूरा अधिकार है कि हम सड़क पर बाएं चलें या दाएं। आखिर गणतंत्र दिवस की परेड तो है नहीं कि चुपचाप सीधे एक लाइन में चले चलो।’

पान मसाला चबाते हुए उन्होंने कहना जारी रखा : ‘चलते-फिरते मुंह भर जाए तो क्या अपनी जेब में थूकें? बस या कार में कुछ खाने के बाद क्या छिलके और लिफाफा लोग घर ले जाएं? कल कहेंगे कि शादी मत करो, क्योंकि सड़क पर जाम लग जाता है और बैंड-बाजे और नाच-गाने से शोर होता है।’

मैंने कहा : ‘यह तो आप भी मानेंगे कि लोग बातचीत का सलीका भूलते जा रहे हैं। न तो औरतों-बच्चों का ख्याल और न ही बड़े-बूढ़ों का लिहाज, जो जी में आए, कह देते हैं। बात-बात में गाली-गलौच पर उतर आते हैं। कई नेता भी नहीं जानते कि शिष्टाचार क्या होता है।’

उन्होंने घूरकर देखा। मैं कहता चला गया : ‘लोकसभा चुनावों के दौरान आप ही की पार्टी के कुछ नेताओं ने औरतों का मजाक उड़ाया और देश के प्रधानमंत्री को कमजोर, दब्बू, नालायक और जाने क्या-क्या कहा..।’

उनका मुंह लाल हो गया : ‘अबे, हमसे जुबान लड़ाता है। अब हम तुमसे सीखेंगे कि कब क्या कहना चाहिए? तू होता हौन है, हमसे ये सब कहनेवाला? बड़ा आया तमीज सिखाने वाला! फौरन दफा हो जा यहां से, वर्ना वो हालत करूंगा कि तेरी..।’
इससे आगे उन्होंने जो कुछ भी कहा, वह लिखने लायक नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चले हैं तमीज़ सिखाने