DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ईको टैक्स

मसूरी में ईको टैक्स लगाया जा रहा है। यह टैक्स सरकार ने मसूरी की स्वच्छता व सफाई की व्यवस्था में सुधार हेतु पर्यटक वाहनों पर लगाया है। यह पर्यावरण संरक्षण के लिए एक सराहनीय कदम है किन्तु सरकार सिर्फ टैक्स लेकर अपना दायित्व पूरा न समझ ले, वह सफाई व स्वच्छता पर भी विशेष ध्यान दे। ऐसा न हो कि जिस प्रकार सरकार ने पवित्र नदी गंगा को बचाने हेतु करोड़ों रुपये बहा दिए, पर गंगा की स्थिति जस की तस बनी रही। नगरपालिका को चाहिए कि वह टैक्स का सदुपयोग कर नगर को स्वच्छ बनाए जिससे पर्यटक भी खुशी से टैक्स देकर मसूरी भ्रमण का आनन्द उठा सकें।
बिमला पन्त, जोगीवाला, देहरादून

आंखों की किरकिरी बने शिक्षक
छठे वेतन आयोग ने अध्यापकों को जनता की आंख की किरकिरी बना दिया है। आज प्रत्येक की जुबां पर यही सुनने को मिलता है कि अध्यापकों को अन्य विभागों की अपेक्षा ज्यादा तनख्वाह मिल रही है। जिन अध्यापकों को कभी यह कहा जाता था कि तू अभी मास्टर ही है या कहीं और नौकरी लग गई है। क्या मास्टर बनना आज के समाज में अभिशाप हो गया है? क्योंकि आज सबकी निगाहें शिक्षकों पर हैं, चाहे वह अनपढ़ ही क्यों न हो। 5वीं, 8वीं, 10वीं और 12 वीं ये तो थोड़ा अनपढ़ों से ऊपर हैं तथा स्नातक, परास्नातकों का तो क्या कहना। समाज, सभ्यता और सरकार का सर्वाधिक बोझ भी अध्यापकों पर ही है। यदि इसी प्रकार का दबाव शिक्षकों पर लादा जाता रहा तो वह छठा वेतन आयोग भी नहीं ढो पायेंगे। आज आवश्यकता है मानसिकता में बदलाव की ताकि अध्यापक सभ्य युग का निर्माता बन सके।
बालम सिंह राणा, पाखरी, एकेश्वर

 ऑटो चालकों की मनमानी
देहरादून को उत्तराखंड राज्य की अस्थायी राजधानी होने का गौरव प्राप्त है। यह शहर दूसरे राज्यों और विदेशों से आने वाले पर्यटकों के लिए भी केन्द्र बिन्दु है। इस शहर के रेलवे स्टेशन और बस स्टैण्ड पर आने वाले यात्रियों की पहली मुलाकात यहां के ऑटो वालों से होती है। ये ऑटो वाले उनको गंतव्य तक पहुंचाने के लिए मनमाने किराए की मांग करते हैं। दिन के समय तो यात्राियों के लिए सिटी बसें और विक्रम भी विकल्प होते हैं, किन्तु रात्रि व सुबह तड़के के समय थके हारे, असहाय यात्री ऑटो वालों से मोलभाव करने की जगह कम किराये के लिए गिड़गिड़ाते नजर आते हैं। प्रशासन द्वारा यात्रियों की सुविधा के लिए ‘प्री प्रेड ऑटो बूथों’ की व्यवस्था की गई है, परन्तु इन बूथों पर तैनात मित्र पुलिस के जवान ऑटो वालों से मित्रता का धर्म निभाने के लिए वहां से नदारद रहते हैं। सरकार और प्रशासन को यह नहीं भूलना चाहिए कि देवभूमि में आने वाले पर्यटकों पर राज्य का पहला प्रभाव ऑटो वालों का ही पड़ता है जिनका व्यवहार और मनमानी राज्य की छवि को धूमिल करता है।
पंकज भार्गव, कंडोली, देहरादून

रुखसाना की बहादुरी को सलाम
जम्मू के राजाैरी इलाके में हाल ही में एक खूंखार आतंकवादी को मार गिराने वाली किशोरी रुखसाना ने अद्भुत बहादुरी का परिचय दिया है। इस घटना से घाटी में अब आतंकियों के दिन लदने के संकेत मिलने लगे हैं। रुखसाना की बहादुरी को हमारा सलाम।
सुभाष, रामदरबार, देहरादून

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ईको टैक्स