DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिजली विभाग ने शुरू किया धरपकड़ अभियान

स्वीकृत लोड से अधिक बिजली खर्च करने वालों पर बिजली विभाग ने अपने तीखी नजर गड़ा दी है। उपभोक्ताओं के औसत बिलों का मूल्यांकन शुरू हो चुका है। इसके लिए विभाग उन बिलों को खंगाल रहा है जिनका लोड कम स्वीकृत है, मगर बिल उससे कहीं अधिक रहता है। बिजली विभाग ऐसे बिलों को खंगालने में जुटा है। इसके साथ ही सभी एसडीओ को कम लोड वाले उपभोक्ताओं को नजर रखने का निर्देश दिया गया है।


बिजली विभाग ने जुलाई व सितंबर माह में स्वत: लोड बढ़ाने के लिए अभियान चला रखा था। अभियान के दौरान कम लोड पर अधिक बिजली खर्च करने वालों को चिन्हित कर करीब 20 मेगावाट लोड बढ़वाने में सफल रहा। यह अभियान 30 सितंबर को खत्म हो चुका है। अब विभाग ने ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई का अभियान शुरू किया है। सभी एसडीओ को उनके  एरिया के उपभोक्ताओं पर नजर रखने का निर्देश दिया है। एसडीओ के नेतृत्व में छापेमारी की टीम गठित कर ऐसे उपभोक्ताओं पर कार्रवाई करने का कहा गया है।


दरअसल स्वीकृत लोड के आधार पर प्रति किलोवाट के हिसाब से मासिक चार्ज उपभोक्ताओं को देना होता है। अधीक्षण अभियंता ए पी मिश्र ने कहा है कि कम स्वीकृत लोड लेकर अधिक बिजली खर्च करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। पकड़े जाने पर उनसे ब्याज सहित बकाया बिल का भुगतान वसूला जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिजली विभाग ने शुरू किया धरपकड़ अभियान