DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खगडि़या नरसंहार के बाद गांव में पुलिस चौकी स्थापित

बिहार के खगड़िया जिले में तीन दिन पूर्व हुए नरसंहार के बाद शांति बहाल करने के उद्देश्य से सरकार ने दो गांवों में पुलिस चौकियों की स्थापना की है।

राज्य के पुलिस महानिरीक्षक (अभियान) एसके भारद्वाज ने बताया कि खगड़िया जिले के अमौसी और इचरूआ गांव में पुलिस चौकी स्थापित की गई है। उन्होंने बताया कि पिछले कई दिनों से अमौसी के ग्रामीण वहां पुलिस चौकी की स्थापना की मांग कर रहे थे।

खगड़िया के जिलाधिकारी अभय कुमार सिंह ने सोमवार को बताया कि अमौसी में अभी भी विशेष कार्यबल (एसटीएफ), बिहार सैन्य बल (बीएमपी) तथा जिला पुलिस बल के जवान तैनात हैं।

पुलिस के अनुसार इस मामले के कथित मुख्य आरोपी ओपी यादव समेत 11 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। शेष आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। इस मामले में 37 लोगों को आरोपी बनाया गया है।

उल्लेखनीय है कि खगड़िया जिले के मोरकही थाना क्षेत्र में गुरुवार को संदिग्ध नक्सली संगठन के सदस्यों ने 16 लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी। मृतकों में 11 वयस्क और पांच नाबालिग थे। सरकार ने सभी मृतकों के संबंधियों को डेढ़-डेढ़ लाख रुपए का मुआवजा देने की घोषणा की है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को घटना में किसी नक्सली संगठन का हाथ होने से इंकार करते हुए हत्याकांड को वर्चस्व की लड़ाई का परिणाम बताया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:खगडि़या नरसंहार के बाद गांव में पुलिस चौकी स्थापित