DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संप्रग में भी पड़ गई दरार

बिहार में लोजपा व राजद ने कर लिया बँटवाराड्ढr कांग्रेस के लिए 40 में से सिर्फ तीन सीटें छोड़ीं संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन में दरार पड़ गई है। बिहार में राष्ट्रीय जनता दल और लोक जनशक्ित पार्टी ने कांग्रेस को किनारे करते हुए आपस में सीटों का बँटवारा कर लिया। राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव और लोजपा मुखिया राम विलास पासवान ने मंगलवार को इस तालमेल की औपचारिक घोषणा कर दी। दोनों दलों के बीच झारखंड में सीटों के बँटवारे की घोषणा बुधवार को होगी।ड्ढr समझौते के अनुसार बिहार में राजद 25 और लोजपा 12 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी। इस बँटवारे से सबसे तगड़ा झटका कांग्रेस को लगा है। उसके लिए केवल तीन सीटें छोड़ी गई हैं। कांग्रेस ने पिछले चुनाव में तीन सीटें जीती थीं। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी को तो 40 संसदीय सीटों में से एक भी सीट नहीं दी।ड्ढr लालू और पासवान ने स्पष्ट किया कि वे संप्रग में हैं और रहेंगे। तीसरे मोर्चे से भी दोनों कोई लेना-देना नहीं रखेंगे। इस समझौते के पहले लालू पर जबर्दस्त दबाव था क्योंकि पासवान कम से कम 16 सीटें लेने पर अड़े हुए थे। बहरहाल मंगलवार को दोनों नेताओं की गलबहियों ने साफ कर दिया कि 25 और 12 की गणित दोनों को भा रही है। यूपी-बिहार में अपने दम पर लड़ेंगे:कांग्रेसड्ढr नई दिल्ली। बिहार में लोजपा और राजद की आपसी डील कांग्रेस ने खारिा कर दी है। पार्टी ने यह भी स्वीकार किया है कि अब यूपी में सपा के साथ भी तालमेल की संभावनाएँ खत्म हो गई हैं। कांग्रेस के यूपी प्रभारी दिग्विजय सिंह ने मंगलवार को कहा - ‘सपा ने सारी सीटों पर तो उम्मीदवार खड़े कर ही दिए हैं। अब बातचीत के लिए बचा ही क्या है!’ड्ढr बिहार में राजद और लोजपा के आपसी बँटवारे से नाराज कांग्रेस ज्यादा से ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी में है। कांग्रेसी नेता सुशील कुमार शिन्दे ने कहा है कि राजद और लोजपा की डील हमें कतई बर्दाश्त नहीं है। हम 11 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। इस पर एक-दो दिन में फैसला हो जाएगा। कांग्रेस के बिहार प्रभारी इकबाल सिंह ने भी कहा है कि तीन सीटें हमें मंजूर नहीं हैं। (ब्यूरो) कांग्रेस चाहे तो अब भी बात संभव: मुलायमड्ढr लखनऊ। सपा ने अलीगढ़ से जफर आलम को उम्मीदवार घोषित किया है। पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने मंगलवार को यह भी कहा कि अगर कांग्रेस अब भी बात करना चाहे तो सपा तैयार है। सपा ने अब भी पाँच सीटें कांग्रेस के लिए छोड़ी हैं। सपा प्रमुख के मुताबिक जफर आलम को लड़ाने की पेशकश कल्याण सिंह ने की थी। सपा महासचिव राजवीर सिंह ने कहा कि अलीगढ़ से दावेदारों में वह कभी नहीं थे। मुलायम ने कहा कि कार्यकर्ता कहते हैं कि किसी सीट पर प्रत्याशी नहीं देने से पार्टी का नुकसान होगा। इस से समझा जा रहा है कि सपा बाकी सीटों पर भी उम्मीदवार उतारगी। इनमें कानपुर से सुरन्द्र मोहन अग्रवाल की चर्चा है। (विसं)

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: संप्रग में भी पड़ गई दरार