DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बड़े मैचों में अच्छा खेलने के आदी हैं कंगारू

बड़े मैचों में अच्छा खेलने के आदी हैं कंगारू

अतिआत्मविश्वास किसी के लिए भी ठीक नहीं है। लगता है पाकिस्तान को इस बात की कीमत चुकानी पड़ी। वे यह मानकर चलने लगे थे कि न्यूजीलैंड को रौंदकर आसानी से फाइनल में पहुंच जाएंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। न्यूजीलैंड ने लक्ष्य का पीछा करने की जो योजना बनायी उस पर वे अमल करने में सफल रहे। जाहिर है यह बात फाइनल में उनको फायदा पहुंचाएगी। वैसे भी उन्होंने परपंरागत प्रतिद्वंद्वी से भिड़ने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ बचाकर रखा हुआ होगा। अब पाकिस्तान पर रोमांचक जीत के बाद न्यूजीलैंड का हौसला और बढ़ गया होगा।

सेमीफाइनल में विटोरी ने बैटिंग पावरप्ले का सही और चतुराईपूर्वक इस्तेमाल किया। जिससे पाकिस्तान को हराने में काफी मदद मिली। लेकिन फाइनल में कीवी टॉप आर्डर को बेहतर प्रदर्शन करना होगा। वे भाग्यशाली थे कि पावरप्ले का पूरा लाभ लेने के लिए उनके पास दो जमे हुए बल्लेबाज थे। इसका फायदा उठाना किसी
नए बल्लेबाज के लिए आसान नहीं होता है।

ऑस्ट्रेलियाई टीम फाइनल में बतौर दावेदार उतरेगी। इंग्लैंड के खिलाफ सेमीफाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया एक मजबूत टीम नजर आ रही थी। वैसे भी यह टीम बड़े मैचों में अच्छा प्रदर्शन करने की आदी है। अपनी कंसिसटेसी की वजह से वे विभिन्न टूर्नामेंटों के फाइनल में पहुंच जाते हैं। बड़े मंच पर कैसा प्रदर्शन किया जाता है यह बात उनके कप्तान रिकी पॉन्टिंग से बेहतर कौन जानता है। पॉन्टिंग की अच्छी बात यह है कि वे जब रन बनाते हैं तो बड़ा स्कोर खड़ा करते हैं। पॉन्टिंग ने लंबे करियर में काफी उतार चढ़ाव देखे हैं।

पिछले दिनों वह अपने खराब दौर से गुजर रहे थे। ऐसा हर किसी के साथ होता है। लेकिन वे उससे न केवल उबरने में सफल रहे बल्कि और मजबूत बनकर उभरे। ऑस्ट्रेलियाई टीम उन पर काफी निर्भर है। ऑस्ट्रेलियाई टीम की बल्लेबाजी सही समय पर फार्म में आयी है। उसके ज्यादातर बल्लेबाज अपने सर्वश्रेष्ठ फार्म में हैं। माइकल हसी और शेन वाटसन दो खतरनाक खिलाड़ी हैं जिन्हें थामना कीवियों के लिए मुश्किल होगा।

सेमीफाइनल और फाइनल से पहले रेस्ट के कारण ग्राउंड्समैन को थोड़ा समय मिल गया होगा। पिच अच्छी नजर आ रही है और मुझे हाई स्कोरिंग फाइनल की उम्मीद है। ऑस्ट्रेलिया टॉस जीता तो पहले बल्लेबाजी कर बड़ा स्कोर बनाएगा। वैसे जब से शेन वार्न गए हैं स्पिन गेंदबाजी उनके लिए समस्या रही है। पर मुझे लगता है कि हारित्ज उम्दा गेंदबाज हैं। फिर भी वे उतने अच्छे नहीं हैं जितने विटोरी। कीवी कप्तान ने सेमीफाइनल में अपना रोल बखूबी निभाया, लेकिन फाइनल में उनको बड़ा रोल अदा करना होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बड़े मैचों में अच्छा खेलने के आदी हैं कंगारू